Install App Install App

रिलायंस कम्युनिकेशन: महज़ Re. 1 में पाएं 300 मिनट ऐप-टू-ऐप कॉलिंग

द्वारा Digit NewsDesk | पब्लिश किया गया 31 Aug 2016
HIGHLIGHTS
  • Re. 1 में 300 मिनट ऐप-टू-ऐप का कॉलिंग ऑफर पूरे 30 दिनों के लिए है और यह हर दिन 10-10 मिनट के हिसाब से खर्ज किया जा सकता है. कंपनी के अनुसार, यूज़र के अकाउंट में हर दिन 7MB डाटा दिया जाएगा जो लगभग 10 मिनट की HD वॉयस कॉल के बराबर है.

रिलायंस कम्युनिकेशन: महज़ Re. 1 में पाएं 300 मिनट ऐप-टू-ऐप कॉलिंग

रिलायंस कम्युनिकेशन्स (आरकॉम) ने मंगलवार को अपने नए ऑफर 'कॉल ड्रॉप्स से छुटकारा'  की घोषणा की है. इसके साथ ही आपको बता दें कि कंपनी के अनुसार इससे आपको कॉल ड्रॉप की बढती समस्या से छुटकारा मिलने वाला है. इस नए ऑफर के तहत आपको महज़ Re. 1 में 300 मिनट ऐप-टू-ऐप कॉलिंग करने का शानदार मौका मिल रहा है.

इसे भी देखें: [Hindi - हिन्दी] Sony Alpha 68 Camera Unboxing in Hindi Video

इसके अलावा आपको बता दें कि यह ऑफर अभी दिल्ली-एनसीआर के रिलायंस 4जी एलटीई ग्राहकों के लिए है. साथ ही अगर आप वॉयस कॉलिंग करने के लिए किसी ऐप का इस्तेमाल करते हैं तो आपको इस पैक के जरिये काफी बड़ा फायदा होने वाला है. इसके साथ ही इस ऑफर के अंतर्गत कंपनी एचडी वॉयस क्वालिटी का दावा कर रही है.

आरकॉम ने इस बात की जानकारी एक ईमेल करके जारी की है. Re. 1 में 300 मिनट ऐप-टू-ऐप का कॉलिंग ऑफर पूरे 30 दिनों के लिए है और यह हर दिन 10-10 मिनट के  हिसाब से खर्ज किया जा सकता है. कंपनी के अनुसार, यूज़र के अकाउंट में हर दिन 7MB डाटा दिया जाएगा जो लगभग 10 मिनट की HD वॉयस कॉल के बराबर है.

इसे भी देखें: रिलायंस Jio अपने LYF स्मार्टफ़ोन यूजर्स को 1 साल के लिए फ्री दे सकता है 4G डाटा

इसे भी देखें: रिलायंस जिओ प्रीव्यू ऑफर: अब सोनी, विडियोकॉन और सैंसुई के 4G फोंस पर हुआ उपलब्ध

Digit NewsDesk
Digit NewsDesk

Email Email Digit NewsDesk

Follow Us Facebook Logo Facebook Logo Facebook Logo

About Me: Digit News Desk writes news stories across a range of topics. Getting you news updates on the latest in the world of tech. Read More

Tags:
RCOM Reliance Communications Telecom India Apps 4G
Install App Install App
Advertisements

ट्रेंडिंग टेक न्यूज़

Advertisements

LATEST ARTICLES सारे पोस्ट देखें

Advertisements
DMCA.com Protection Status