एक से अधिक Bank Account उपयोग कर रहे हैं तो ज़रूर पढ़ें

द्वारा Aafreen Choudhary | पब्लिश किया गया Jan 28 2020
एक से अधिक Bank Account उपयोग कर रहे हैं तो ज़रूर पढ़ें

Get Redmi 8 4GB+64 GB @ RS.7,999

With 12MP+2MP AI Dual camera, 5000mAh battery, fast charging, Fingerprint sensor + AI Face unlock

Click here to know more

HIGHLIGHTS

उपयोग न होने वाले अकाउंट कर दें बंद

पेनल्टी चार्ज कर रखें ध्यान

Bank में खाता हमारी एक मूलभूत ज़रूरत बन चुका है और लगभग हर एक व्यक्ति चाहे वो एक आम रोज़गार कमाने वाला हो या एक बड़ा व्यापारी, सभी बैंक अकाउंट उपयोग करते हैं। कुछ का मक़सद सेविंग तो कुछ पेंशन और सब्सिडी के लिए बैंक अकाउंट ओपन करते हैं। लेकिन एक अकाउंट से अधिक रखने वाले ग्राहकों की संख्या भी काफी अधिक है।

हालांकि, एक से अधिक खाता खोलने में कोई दिक्कत नहीं है और हम किसी भी राज्य में किसी भी बैंक में खाता खोल सकते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि अगर आप एक से अधिक खाते रखते हैं तो आपको क्या बातें ध्यान रखनी होगी।

अकाउंट उपयोग न होने पर क्या करें

अगर आप एक से अधिक बैंक अकाउंट का उपयोग करते हैं और ऐसा कोई अकाउंट है जिसे लम्बे समय से इस्तेमाल नहीं किया गया है तो इसे बंद करना ठीक है। ऐसा इसलिए है क्योंकि लम्बे समय तक खाता उपयोग न होने पर मिनिमम बैलेन्स की रकम बेहद बढ़ चुकी है और प्रत्येक खाते में आपको अच्छी-ख़ासी रकम न्यूनतम बैलेन्स के रूप में रखनी होती है।

खाता बंद कराते समय इससे जुड़े बीमा, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड आदि को भी उसी समय बंद करा दें जिससे आगे चलकर कोई दिक्कत न आए।  

सैलरी अकाउंट

किसी भी एम्प्लोयी के लिए सैलरी अकाउंट होना तो आवश्यक होता ही है क्योंकि उसमें सैलरी आनी होती है। यह ध्यान देना है कि, अगर आपके खाते में तीन महीने से सैलरी क्रेडिट नहीं हुई है तो आपका अकाउंट खुद ही सेविंग में बदल जाता है। Salary और Saving Account के नियम में अंतर होता है और अगर आप सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेन्स मैंटेन नहीं करते हैं तो इसका पेनल्टी चार्ज बढ़ता जाता है जो आपके अकाउंट से कटने लगता है।

इन्कम टैक्स से जुड़े नियमों पर ध्यान देना है ज़रूरी

इन्कम टैक्स भरते समय अब आपको अपने प्रत्येक खाते की जानकारी यहां देनी होती है और इसमें साला भर मिले ब्याज़ का लेखाजोखा भी देना होता है। इसके अलावा, अपने बैंक अकाउंट की स्टेटमेंट भी लगानी पड़ती है।

लोन लेते समय निष्क्रिय खाते दे सकते हैं दिक्कत

अगर आप कोई लोन लेने जा रहे हैं तो आपका सीबील स्कोर देखा जाता है और अगर आपका कोई खाता निष्क्रिय पड़ा है तो आपको उसकी भी जानकारी देनी होती है। अगर आपने उस अकाउंट में बैलेन्स मैंटेन नहीं किया हुआ है तो आपके लोन लेने की प्रक्रिया पर इसका असर पड़ सकता है। साथ ही, लोन लेते वक़्त आपको सभी बैंक अकाउंट का स्टेटमेंट भी लगाना पड़ सकता है जो कि काफी बड़ा काम होता है।

उपयोग में न आने वाले खातों को कर सकते हैं बंद

अगर आप गैरज़रूरी अकाउंट बंद कनरा चाहते हैं तो आपको बैंक जाकर एक अकाउंट क्लोज़र फॉर्म भरना होगा और इसी के साथ डी-लिंकिंग फॉर्म भी भरना पड़ सकता है। आपको फॉर्म में अकाउंट बंद करने का कारण भी बताना होगा और जिस अकाउंट में अपना पैसा ट्रान्सफर करना चाहते हैं उसकी जानकारी भी देनी होगी। अगर यह एक जोइंट अकाउंट है तो Account closer form पर दोनों अकाउंट होल्डर के हस्ताक्षर होने ज़रूरी हैं। इसके साथ ही चेक बूक और डेबिट कार्ड को भी जमा करना होगा।  

अकाउंट क्लोज़िंग चार्ज के बारे में जानें

अगर आप खाता खोलने के 14 दिन के भीतर खाता बंद करते हैं तो आपको कोई बैंक चार्ज नहीं देना होता है लेकिन एक साल से पहले अगर आप खाता बंद करते हैं तो आपको चार्ज देना होगा। आपको बता दें कि एक साल के बाद खाता बंद करने पर बैंक आपसे कोई चार्ज नहीं लेगा। हालांकि, हर बैंक के नियम अलग-अलग हो सकते हैं।

अकाउंट बंद करने पर 20,000 रुपए कैश निकाल सकते हैं

आपके खाते में अगर 20,000 रुपए हैं तो आप बैंक अकाउंट बंद करने के दौरान केवल 20,000 रुपए ही कैश निकाल सकते हैं। इससे ऊपर की राशि आपको अपने दूसरे अकाउंट में ट्रान्सफर करनी होगी जो आपने अकाउंट क्लोज़िंग फॉर्म में लिखी है।

अगर आप खाता बंद करने जा रहे हैं तो उसमें ज़्यादा पैसा न रखें और रकम को अकाउंट बंद करने से पहले ही दूसरे खाते में ट्रान्सफर कर लें। हालांकि, मिनिमम बैलेन्स को बनाए रखें, अन्यथा आपको पेनल्टी चार्ज देना पड़ सकता है।

logo
Aafreen Choudhary

Advertisements

ट्रेंडिंग टेक न्यूज़

Advertisements
Advertisements

टॉप प्रोडक्ट्स

पोपुलर मोबाइल फोंस

सारे पोस्ट देखें

Digit caters to the largest community of tech buyers, users and enthusiasts in India. The all new Digit in continues the legacy of Thinkdigit.com as one of the largest portals in India committed to technology users and buyers. Digit is also one of the most trusted names when it comes to technology reviews and buying advice and is home to the Digit Test Lab, India's most proficient center for testing and reviewing technology products.

हम 9.9 लीडरशिप के तौर पर जाने जाते हैं! भारत की एक अग्रणी मीडिया कंपनी के निर्माण और प्रगतिशील उद्योग के लिए नए लीडर्स को करते हैं तैयार