क्या भारतीय ऐप संदेश सच में है WhatsApp से बेहतर? आपके हर सवाल का जवाब है यहाँ

Digit Hindi | पब्लिश किया गया 26 Feb 2021
क्या भारतीय ऐप संदेश सच में है WhatsApp से बेहतर? आपके हर सवाल का जवाब है यहाँ
HIGHLIGHTS
  • संदेश ऐप को लेकर इन्टरनेट पर काफी चर्चा चल रही है, लोग इसे WhatsApp का बेहतरीन अल्टरनेटिव बता रहे हैं

  • हालाँकि क्या वाकई संदेश ऐप में वह सब खूबी हैं जिनके माध्यम से यह WhatsApp की जगह ले सकता है

  • आज हम आपको बताने वाले है कि आखिर यूजर डेटा और सिक्यूरिटी के मामले में संदेश ऐप क्या व्हाट्सऐप से टक्कर ले सकता है, और WhatsApp को पछाड़ सकता है

Sandes App भारत सरकार की ओर से पेश किया गया एक इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप है, जो इस समय लगभग सभी के लिए उपलब्ध हो गया है। हालाँकि कुछ समय पहले तक यह केवल सरकारी अधिकारियों के लिए ही उपलब्ध था। ऐप, जिसे राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) द्वारा शुरू किया गया है, पीएम नरेंद्र मोदी की डिजिटल इंडिया और आत्मानिर्भर भारत (आत्मनिर्भर भारत) पहल को बढ़ावा देता है। इसके अलावा इसे लेकर कहा जा रहा है कि यह WhatsApp को भी बड़ी टक्कर दे सकता है, असल में WhatsApp कहीं न कहीं अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर चर्चा में है, और लोग अब इसे छोड़ने की योजना बना रहे हैं, ऐसे में संदेश ऐप का बाजार में आना लोगों को WhatsApp का एक बड़ा अल्टरनेटिव उपलब्ध करा रहा है।

हालाँकि क्या वाकई Sandes App में वह क्षमता है जिसके माध्यम से यह WhatsApp को कड़ी टक्कर दे सकता है, इसके अलावा यूजर डेटा और सुरक्षा के मामले में यह ऐप कितना सक्षम है, साथ ही ऐसे ही कई आपके बड़े से बड़े सवाल का जवाब आज हम आपको यहाँ देने वाले हैं। हालाँकि इसके पहले कि हम आगे बढें आइये आपको बता ही देते हैं कि यह ऐप यानी भारतीय WhatsApp Alternative यानी संदेश ऐप एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड भी है।

क्या फीचर्स के मामले में WhatsApp की बराबरी करता है संदेश ऐप?

Sandes App देश में सभी के लिए फ्री में इस्तेमाल करने के लिए उपलब्ध है, इसके अलावा ऐप में आपको कोई भी ऐड आदि भी नहीं मिलता है, यानी यह ऐप विज्ञापन रहित है। ध्यान दें कि जब आप इसे डाउनलोड करते हैं, तो ऐप का नाम GIMS (सरकार इंस्टेंट मैसेजिंग सिस्टम) के रूप में प्रदर्शित होता है। लेकिन, सरकार इसे संदेश कह रही है, इसका मतलब है कि आप इसे तलाश करते हुए कुछ कंफ्यूजन में आ सकते हैं, लेकिन अब तो सभी इस बारे में जान गए हैं।

अगर हम संदेश ऐप के इंटरफ़ेस की बात करते हैं तो आपको बता देते हैं कि यह आपको WhatsApp की तरह ही लगने वाला है, और आपको WhatsApp के लगभग ज्यादातर फीचर भी इसमें मिलने वाले हैं। आइये अब एक नजर डालते हैं कि आखिर इन दोनों ही एप्स में अलग क्या है, यानी इन दोनों में डिफरेंस क्या है।

सबसे बड़े अंतर की बात करें तो आपको बता देते हैं कि संदेश ऐप को आपको साइन अप करने के लिए अपने ईमेल आईडी की जरूरत होती है, यहाँ आपको मोबाइल नंबर नहीं चाहिए। हालाँकि अभी के लिए यह मात्र सरकारी अधिकारियों तक ही सीमित है। हालाँकि इसके उलट WhatsApp में आपको अपना अकाउंट बनाने के लिए अपने मोबाइल नंबर की जरूरत होती है।

इसके अलावा आपको संदेश ऐप में वेरिफाइड अकाउंट भी नजर आने वाले हैं, जो आपको व्हाट्सऐप में देखने को नहीं मिलते हैं। इसके अलावा सरकारी संदेश ऐप के माध्यम से आप विडियो और फोटो को अन्य लोगों के साथ शेयर कर सकते हैं, और यह आप 500MB तक कर सकते हैं, हालाँकि व्हाट्सऐप में यह लिमिट कम है। 

एक बात यहाँ बढ़िया है कि आप अपने डिवाइस पर चैट का बैकअप ले सकते हैं और एक एक्सटर्नल लोकेशन को भी चुन सकते हैं। आपके पास ईमेल पर चैट का बैकअप लेने का भी विकल्प है। यदि आप एक व्हाट्सएप उपयोगकर्ता हैं, तो आप जानते हैं कि फेसबुक के स्वामित्व वाला ऐप केवल आपको एंड्रॉइड पर Google ड्राइव या iOS पर iCloud से चैट करने की सुविधा देता है। 

लेकिन संदेश ऐप में अकाउंट बनाने के बाद आपको अपना मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी बदलने की अनुमति नहीं मिलती है। इसलिए, यदि आप अपने लिए एक नया नंबर लेते हैं या किसी भी कारण से आपकी ईमेल आईडी खो गई है, तो आपको एक नया खाता बनाना होगा और आपकी सारी चैट खो जाएगी। इसके विपरीत, व्हाट्सएप आपको अपने मौजूदा प्रोफ़ाइल को हटाए बिना फोन नंबर बदलने की सुविधा देता है।

संदेश ऐप में यूजर डेटा या सिक्यूरिटी का क्या है मामला

ऐप्पल के ऐप स्टोर पर ऐप के गोपनीयता लेबल से पता चलता है कि यह कॉन्टेक्ट इन्फो, यूजर कंटेंट, पहचानकर्ता, निदान और अन्य डेटा एकत्र करता है। यहाँ Latter का अर्थ है कि सिस्टम प्रत्येक संदेश के मेटाडेटा को एकत्रित करता है, जिसमें प्रेषक की पहचान, रिसीवर की पहचान, तत्काल या समूह संदेशों की तिथि, समय और आकार, ऑडियो और वीडियो कॉलिंग तिथि, समय और अवधि शामिल है।

Sandes App की गोपनीयता नीति के अनुसार, एक व्यक्ति या समूह चैट में सभी संदेश सुरक्षित संचार सुनिश्चित करने के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड हैं। नीति में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि सिस्टम "किसी भी तीसरे पक्ष को किसी भी व्यक्तिगत रूप से पहचाने जाने योग्य जानकारी को बेचता या साझा नहीं करता है।

मोबाइल के अलावा किन डिवाइस पर चलाया जा सकता है संदेश ऐप 

अभी के लिए आपको बता देते है कि संदेश ऐप को मात्र एंड्राइड और iOS यूजर्स के लिए ही उपलब्ध है। हालाँकि अभी तक इसे टैबलेट आदि की सपोर्ट नहीं मिली है। हालाँकि इस ऐप के वेब वर्जन को इस्तेमाल किया जा सकता है। हालाँकि अभी के लिए यह ऐप आपको प्ले स्टोर पर नहीं मिलने वाला है। अगर आप इस ऐप का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपको सरकारी वेबसाइट पर ही जाना होगा। हालाँकि iOS यूजर्स संदेश ऐप को iOS स्टोर से जाकर यानी ऐप स्टोर से जाकर डाउनलोड और इनस्टॉल कर सकते हैं।

कैसे डाउनलोड करें संदेश ऐप?

जैसे कि हमने आपको ऊपर भी बताया है कि आपको शायद प्ले स्टोर पर यह ऐप डाउनलोड करने के लिए नहीं मिलने वाला है। हालाँकि हम आपको इसे अपने फोन में या इसका वेब वर्जन इस्तेमाल करने के लिए सही जगह बताने वाले हैं, जहां से आप इसे डाउनलोड और इनस्टॉल कर सकते हैं।

  • आपको इस ऐप के लिए मात्र www.gims.gov.in/dash/dlink पर जाना होगा, इसके बाद आपको डाउनलोड बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको ऐप को ओपन करना है और अपना अकाउंट बनाना है, आप ऐसा अपने फोन नंबर से भी कर सकते हैं, यहाँ आपको एक OTP मिलने वाला है, जो आपको अकाउंट बनाते हुए माँगा जाने वाला है।
  • अब आपको अपना नाम, लिंक, और अपना फोटो अपलोड करना है। इसके अलावा Latter को यहाँ ऑप्शनल रखा गया है, इसका मतलब है कि आपको इस चरण को स्किप करने की भी अनुमति है।
  • इसके बाद ऐप आपसे लोकेशन परमिशन को मांगता है, इसे भी आप स्किप कर सकते हैं। इसके बाद अगले विंडो पर आपसे आपके कॉन्टेक्ट को सिंक करने के लिए कहा जाता है, और इसके बाद आप इस ऐप को इस्तेमाल करने के लिए तैयार हैं।
logo
Digit Hindi

email

Web Title: here to know the all details how sandesh is better than whatsapp or not full details
Advertisements

ट्रेंडिंग टेक न्यूज़

Advertisements

LATEST ARTICLES सारे पोस्ट देखें

Advertisements
DMCA.com Protection Status