कैसे पहचानें फेक ऐप; स्टेप बाय स्टेप गाइड

द्वारा Digit Hindi | पब्लिश किया गया 29 Aug 2019
HIGHLIGHTS
  • अभी हाल ही में प्ले स्टोर से 100 मिलियन बार डाउनलोड किये जा चुके CamScanner ऐप को हटा दिया गया है।

  • ऐसा कहा जा रहा था कि इस ऐप के द्वारा मैलवेयर का विज्ञापन दिया जा रहा था।

  • कोई भी ऐप इस्तेमाल करने से पहले रखें इन बातों का ध्यान।

कैसे पहचानें फेक ऐप; स्टेप बाय स्टेप गाइड
कैसे पहचानें फेक ऐप; स्टेप बाय स्टेप गाइड

लेटेस्ट अपडेट: अभी हाल ही में प्ले स्टोर से 100 मिलियन बार डाउनलोड किये जा चुके CamScanner ऐप को हटा दिया गया है। ऐसा कहा जा रहा था कि इस ऐप के द्वारा मैलवेयर का विज्ञापन दिया जा रहा था। आपको बता देते हैं कि इंटरनेट पर खबरें आ रही हैं कि ऐप के नए वर्जन में आपको मेलीसियस कोड नहीं मिल रहा था, जिसके कारण ऐसा कुछ सामने आया है। 

स्मार्टफोंस में गूगल प्ले स्टोर एक अहम हिस्सा है, लेकिन आजकल इसके इस्तेमाल को लेकर कुछ सावधानी बरतने की जरुरत है। क्योंकि कभी-कभी यहां से फेक ऐप भी डाउनलोड हो जाते हैं, जिससे आपकी निजी जानकारी को खतरा हो सकता है। जी हां कई बार गूगल प्ले स्टोर में फेक ऐप आ जाते हैं, जिसे आप पहचान नहीं पाते हैं और इसे डाउनलोड करते ही आपकी व्यक्तिगत जानकारी को हैक किया जा सकता है। इससे बचने के लिए आपको पता होना चाहिए कि ऐप असली है या फेक। तो आइए हम बताते है कि फेक ऐप की पहचान कैसे करें और कैसे अपने निजी जानकारियों को सुरक्षित रख सकें। 

सबसे पहले आप ये देखें कि जो ऐप आप डाउनलोड करने जा रहे है उसका पब्लिशर कौन है। कई बार हैकर्स ओरिजिनल ऐप के नाम में ही थोड़ा सा बदलाव करके डाल देते हैं ताकि यूजर्स कन्फ्यूज हो। इसलिए जरुरी है कि आप पब्लिशर का नाम ध्यान से पढ़े।

कस्ट्मर रिव्यूऐ से भी आप पता कर सकते हैं कि ऐप सही है या नहीं। रिव्यू पढ़ने से आपको ऐप के बारे में जानकारी मिल जाएगी। इससे आपको आइडिया मिल जाएगा कि आप जो ऐप डाउनलोड करनेवाले हैं वो आपके काम का है या नहीं।

आप ये भी देखें कि ऐप को कब जारी किया गया है। बहुत पुराने डेट में जारी किए गए ऐप को डाउनलोड ना करें। अगर हाल ही में एप को जारी किया गया है तो उससे जुड़ी खबरों को पढें और अगर उससे जुड़ी कोई खबर नहीं है तो उसे बिल्कुल डाउनलोड ना करें।

ऐप को डाउनलोड करते समय स्पेलिंग पर खास ध्यान दें क्योंकि फेक ऐप कॉपी कर बनाया जाता है। और थोड़ा अलग करने के लिए जानबुझकर स्पेलिंग मिस्टेक की जाती है, जिसे यूजर्स आसानी से नहीं पकड़ पाते हैं। इसलिए जब भी कोई ऐप डाउनलोड करें स्पेलिंग पर खास ध्यान दें।

Digit Hindi
Digit Hindi

Email Email Digit Hindi

Follow Us Facebook Logo Facebook Logo

About Me: Ashwani And Aafreen is working for Digit Hindi, Both of us are better than one of us. Read the detailed BIO to know more about Digit Hindi Read More

Tags:
fake app
Advertisements

ट्रेंडिंग टेक न्यूज़

Advertisements

LATEST ARTICLES सारे पोस्ट देखें

Advertisements
DMCA.com Protection Status