भारत में कोविड-19 से जुड़े कन्वर्जेशन को सहयोग देने के लिए ट्विटर ने उठाये बड़े कदम, जानें विस्तार से

द्वारा Press Release | पब्लिश किया गया 14 May 2021
भारत में कोविड-19 से जुड़े कन्वर्जेशन को सहयोग देने के लिए ट्विटर ने उठाये बड़े कदम, जानें विस्तार से
भारत में कोविड-19 से जुड़े कन्वर्जेशन को सहयोग देने के लिए ट्विटर ने उठाये बड़े कदम, जानें विस्तार से

देश में एक ओर कोरोनावायरस की दूसरी लहर कहर मचा रही है, वहां सोशल मीडिया ने एक अहम् भूमिका निभाते हुए इसकी रोकथाम में देश के लोगों की बड़ी मदद की है, अगर हम ट्विटर की चर्च करें तो आपको बता देते है कि ट्विटर ने पिछले कुछ दिनों में कुछ सबसे बड़ी कदम उठाएं हैं, जिनके बारे में हम आपको निचे विस्तार से बताने वाले हैं, और कैसे इन कदमों से लोगों को इस महामारी के काल में मदद पहुंची है, उसे भी आप यहाँ जान सकते हैं। आइये जानते है कि आखिर Covid-19 की इंडिया में इस दूसरी लहर के बीच ट्विटर ने लोगों को किस प्रकार से अपना सहयोग पहुँचाया है।

विश्वसनीय सूचनाओं को हासिल करने के और तरीकें

पिछले साल साझा किए जए इवेंट पेज के बाद हमने राज्य आधारित कोविड-19 पेज को लॉन्च कर दिया है, जहां SOS मदद की अपील के साथ लोगों की तरफ से किए जा रहे नवीनतम ट्वीट्स नजर आएंगे। इसके साथ ही इस पेज पर उन लोगों के भी ट्वीट्स नजर आएंगे जो मदद की पेशकश कर रहे हैं। फिलहाल हमारे पास उन छह राज्यों के विशेष पेज हैं, जो कोविड-19 से सर्वाधिक बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। इन राज्यों में छत्तीसगढ़, दिल्ली, कर्नाटक्, केरल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र और पंजाब शामिल हैं।

COVID-19 SOS पेज उन सूचनाओं को लोगों को सामने रखने में मददगार है, जिसमें संकट के दौरान मदद मांगने या उसकी पेशकश से जुड़ी जानकारी होती है। हमने इसके साथ ही कई ट्विटर मोमेंट्स बनाए हैं ताकि आप तक वैक्सीन सुरक्षा, कैसे सुरक्षित रहें समेत अन्य जानकारियां सर्वाधिक विश्वसनीय स्रोत के जरिए पहुंचाई जा सके।

ट्विटर लिस्ट्स सभी अकाउंट्स की तरफ से किए जा रहे ट्वीट्स को एक जगह मुहैया कराता है, जिससे खोजने में आसानी होती है और तेजी से बदलते घटनाक्रम के बीच किसी विशेष अकाउंटस को देखने में मदद मिलती है। हमने स्वास्थ्य प्राधिकरणों, सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों, स्वास्थ्य कवर करने वाले पत्रकारों, फैक्ट चेकर्स के साथ अन्य आधिकारिक स्रोतों ट्विटर लिस्ट बनाई है, ताकि आप कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बारे में ताजातरीन जानकारी से अवगत रहें।

भारत में एक मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों के लिए टीकाकरण की शुरुआत हो चुकी है, ऐसे में आप वैक्सीन (टीका) की सुरक्षा, टीका योग्यता और अन्य स्थानीय जानकारियों की तलाश कर रहे होंगे। इस जरूरत को पूरा करने के लिए हम कोविड-19 से जुड़ी विश्वसनीय जानकारियों को होम टाइमलाइन प्रॉम्प्ट्स पर प्रदर्शित करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसमें कोविड-19 टीका से जुड़ी नवीनतम जानकारियां हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा में उपलब्ध है।

आपकी टाइमलान पर कोविड-19 के बारे में सर्वाधिक विश्वसनीय जानकारी देने के लिए हम देश भर के समाचार और मीडिया संस्थानों के अलावा पत्रकारों के साथ साझेदारी कर रहे हैं। ये विविध और विश्वसनीय जानकारियां रियल टाइम में कई भाषाओं में अलग-अलग प्रारुपों मसलन वीडियो, ट्विटर मोमेंट्स, थ्रेड्स और लाइव स्ट्रीम्स में उपलब्ध अहम सूचनाएं हैं।

डिवेलपर्स को रियल टाइम में टूल्स बनाने के लिए सक्षम करना

भारत में डिवेलपर्स ट्विटर एपीआई का इस्तेमाल कर रचनात्मक टूल्स और एप का निर्माण कर रहे हैं ताकि लोगों को चिकित्सा सेवाओं, ऑक्सीजन, दवाएं, खाना और अन्य तरह की मदद के बारे में सूचनाएं मुहैया कराई जा सके। ट्विटर की डिवेलपर्स नीतियों का अनुपालन करते हुए हम ऐसे डिवेलपर्स के साथ करीबी से काम कर रहे हैं ताकि उनकी सेवाओं की व्यापक दायरे तक पहुंच सुनिश्चित हो सके और इसका प्रभाव बड़े स्तर पर काम कर सके।

मिसाल के तौर पर covid19-twitter.in और covidsos ,जिसे उमंग गलैया और मशरीन श्रीवास्तव  के द्वारा विकसित किया गया है। इन टूल्स का निर्माण ट्विटर एपीआई के इस्तेमाल के जरिए किया गया है, जो ट्विटर के एडवांस्ड सर्च फंक्शन का उपयोग करते हुए आसान इस्तेमाल वाले फिल्टर के जरिए लोगों को कोविड-19 के बारे में रियल टाइम में सूचनाएं मुहैया कराने में मदद करता है। इस टूल में वह लोकेशन और अन्य फिल्टर लगाकर सूचनाओं को हासिल कर सकते हैं।

COVID-19 संसाधनों और अनुरोधों के बारे में सबसे हालिया ट्वीट्स को प्रदर्शित करने के लिए शिवम ध्रुव और महेंद्र राठौड़ ने CovidTweet, को विकसित किया है, जो एक इंटरफ़ेस है और यह स्वयंसेवकों को नवीनतम सत्यापित किए गए अनुरोधों को एक स्थान पर देखने की सुविधा देता है।

Sprinklr ने एक समग्र डैशबोर्ड का निर्माण किया है, जो लोगों को शहर आधारित दवाओं, ऑक्सीजन, अस्पतालों के बिस्तर, प्लाज्मा और अन्य अहम जरूरतों के बारे में जानकारी प्रदान करता है।

शिखर सक्सेना और सिद्धार्थ भूलिया की तरफ से विकसित किया गया CovidVerified जमीन पर काम कर रहे स्वयंसेवकों को ऑक्सीजन, अस्पतालों के बिस्तर और अन्य जरूरी सेवाओं की उपलब्धता और उसे पूरा किए जाने की जानकारी की पुष्टि में मदद प्रदान करता है।

संगठनों को दान देने में मदद करना

प्रॉम्प्ट: हमने एक प्रॉम्प्ट लॉन्च किया है, जो किसी भी व्यक्ति के लिए हैशटैग जैसे #helpIndia और #donateIndia या ‘मदद ‘+’ इंडिया ’या ‘डोनेट’ + इंडिया’ जैसी प्रमुख शब्दों के युग्म को प्रदर्शित करेगा। प्रॉम्प्ट आपको उन सत्यापित संगठनों की ट्विटर सूची  पर ले जाएगा जिसके साथ हम काम करते हैं, या फिर आपको यह उस इवेंट पेज पर ले जाएगा, जहां कोविड-19 के मामले में काम कर रहे अग्रिम पंक्ति के संगठनों के ट्वीट्स मौजूद हैं।

टिप जार:  हमने पिछले हफ्ते टिप जार को लॉन्च किया था। यह अन्य लोगों को आर्थिक रूप से मदद करने और उनकी तरफ सहायता का हाथ बढ़ाने के लिए किया शुरू किया गया नया तरीका है। यह आपको मौजूदा अकाउंट को भुगतान प्रदाता कंपनियों पेपाल, कैश एप, पैट्रियॉन, बैंडकैंप और वेनमो से जोड़ने की अनुमति देता है और फिर यह आपको ट्विटर से हटाकर चुने गए एप पर ले जाता है जहां आप चुने गए अकाउंट को मदद प्रदान कर सकते हैं। ट्विटर इसमें से कुछ भी नहीं लेता है। ऐसी विशेषता या फीचर संकट के समय में ज्यादा प्रासंगिक हैं, जिससे कि हम सभी अभी गुजर रहे हैं और इसलिए हम ऐसे अकाउंट्स की संख्या को बढ़ाने की प्रक्रिया में है, जो फिलहाल इस फीचर का इस्तेमाल कर रहे हैं। साथ ही हम टिप जार के साथ भारतीय भुगतान प्रदाताओं को जोड़ने की दिशा में काम कर रहे हैं। हमारी कोशिश टिप जार को कई भाषाओं में इस्तेमाल योग्य बनाने की है।

कैसा रहा रुख

एड्स फॉर गुड क्रेडिट: पांच गैर-लाभकारी संस्थाओं और COVID राहत प्रयासों में सहयोग करने वाले संगठनों के ट्वीट्स को व्यापकता प्रदान की दिशा में पूर्व की प्रतिबद्धता के मुताबिक एड्स फॉर गुड क्रेडिट्स के दायरे में छह नए संगठनों गिव इंडिया, अक्षय पात्र, मिलाप , राइज अगेंस्‍ट हंगर इंडिया और हेमकुंत फाउंडेशन  को लाया गया है।

नीतियों के जरिए सार्वजनिक विमर्श को सुरक्षित करना

हम सार्वजनिक विमर्श को सुरक्षित करने की दिशा में प्रतिबद्ध हैं और हमारी नीतियां हमें ऐसा करने में मदद प्रदान करती हैं। ट्विटर पर विश्वसनीय जानकारी खोजने की प्रक्रिया को आसान बनाने और संभावित हानिकारक और भ्रामक सामग्री के प्रसार को सीमित करने के लिए विशेषज्ञों की एक वैश्विक टीम लगातार काम करती रहती है।

कोविड-19 मिसिन्फोर्मेशन पॉलिसी: हम जानते हैं कि सार्वजनिक स्वास्थ्य संकट की इस घड़ी में लोग  भ्रामक सूचनाओं के प्रसार को लेकर चिंतित हैं। हम उन्हें यह आश्वासन देना चाहते हैं कि हम जब अपनी नीतियों का निर्माण करते हैं तो सब कुछ स्पष्ट होता है। हम प्रॉडक्ट, टेक्नोलॉजी और मानव समीक्षा के संयोजन का उपयोग करके नुकसान की उच्चतम क्षमता के आधार पर कोविड-19 मिसिन्फोर्मेशन पॉलिसी से निपटते हैं। इस नीति के तहत COVID-19 से संबंधित सामग्री पर लेबल लगाने या उसे हटाने के लिए, यह होना चाहिए:

  • निश्चित रूप से व्यक्त किए गए दावे जो तथ्य पर आधारित हों
  • व्यापक रूप से उपलब्ध आधिकारिक स्रोतों के आधार पर निश्चित रूप से गलत या भ्रामक हो
  • सार्वजनिक सुरक्षा को प्रभावित करने या गंभीर नुकसान का कारण बनने की संभावना हो

एक मार्च 2021 से टीके के बारे में भ्रामक जानकारी के बारे में हमारी कोविड-19 भ्रामक सूचना नीति को अपडेट किए जाने के बाद से हम ट्वीट्स पर एक लेबल चेतावनी लगाते हैं, जो गैर प्रमाणिक अफवाहों और विवादित दावों के साथ टीके के बारे में आधी-अधूरी या बिना संदर्भ के जानकारी को आगे बढ़ाते हैं। कोविड-19 टीकाकरण के बारे में हानिकारक झूठे या भ्रामक विचारों को आगे बढ़ाने वाले ट्वीट्स को हटाना जारी रखा जाएगा।

Press Release
Press Release

Email Email Press Release

Web Title: Twitters work to support the COVID-19 conversation in India
Advertisements

ट्रेंडिंग टेक न्यूज़

Advertisements

LATEST ARTICLES सारे पोस्ट देखें

Advertisements
DMCA.com Protection Status