Google ने आपके चारों ओर लगा रखा है मज़बूत पहरा, जानें कैसे बच सकते हैं गूगल की नज़रों से

द्वारा Digit Hindi | पब्लिश किया गया 16 Apr 2021
HIGHLIGHTS
  • क्या आप जानते हैं कि Google आपको हर हरकत पर अपनी पैनी नजर रख रहा है

  • आप कहा जा रहा हैं, क्या कर रहे हैं Google को इस बारे में सब पता है

  • अगर आप Google की इस पैनी नजर से बचना चाहते हैं तो आपको नीचे दिए गए स्टेप्स को अपनाना होगा

Google ने आपके चारों ओर लगा रखा है मज़बूत पहरा, जानें कैसे बच सकते हैं गूगल की नज़रों से
गूगल आपकी हर हरकत पर रखता है अपनी नजर, कैसे बचें गूगल के इस पहरे से

क्या अप जानते है कि सर्च इंजन गूगल आपकी हर हरकत पर अपनी पैनी नजर बनाये रखता है. आप कहीं भी जाते हैं, कुछ भी खाते हैं, कुछ भी करते हैं... आदि के बारे में गूगल भली भाँती अवगत है। हालाँकि इस बारे में शायद आपको पता हो या न हो। अगर अगर आप चाहते है कि कोई आपको ऐसे ही ऑनलाइन फॉलो करता रहे और आपके बारे में सभी जानकारी को इकट्ठा करता रहे तो आप जैसे हैं सही हैं, क्योंकि आप ऐसा चाहते हैं, लेकिन अगर आप ऐसा नहीं चाहते हैं तो आपको गूगल को अभी रोकना होगा। 

आपको बता देते हैं कि सर्च इंजन गूगल आज के जीवन में सभी के लिए ज़रूरी है जिसके बिना साधारण जीवन सोचना बहुत मुश्किल है। हम हर छोटी से बड़ी बात जानने के लिए Google का सहारा लेते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि गूगल आपकी हर हरकत पर नज़र रखता है। आप कहां जा रहे हैं और क्या सर्च कर रहे हैं ये सब बातें आप चाहे किसी को बताएं या नहीं लेकिन गूगल ये सब जानता है। दरअसल, गूगल की ओर से लोकेशन का उपयोग अपनी सर्विस को बेहतर बनाने के लिए किया जाता है जिससे लोकेशन बेस्ड सर्च, रिज़ल्ट, रियल टाइम ट्रेफिक, फोटो और अन्य चीजों के लोकेशन की सही जानकारी मिलती है। हालांकि, अगर आप चाहते हैं कि गूगल आपकी लोकेशन को ट्रैक न करे तो आप आसान टिप्स और ट्रिक्स से इन्हें ब्लॉक कर सकते हैं। चलिए जानते हैं गूगल को अपनी निजी जानकारी से कैसे दूर रखा जाए...

लोकेशन ट्रैकिंग को कैसे बंद करें?

लोकेशन ट्रैकिंग बंद करने के दो तरीके हैं। पहले ऑप्शन में आपके डिवाइस में मौजूद सभी ऐप्स के लोकेशन डाटा की पर्मिशन ब्लॉक हो जाएगी।

App परमिशन ब्लॉक करने का पहला तरीका है यह

  • एंडरोइड स्मार्टफोन की सेटिंग्स में जाएं।
  • इसके बाद डाटा लोकेशन पर क्लिक करें।
  • इसके बाद लोकेशन पर्मिशन के लेफ्ट स्वाइप करने पर इसे टर्न ऑफ किया जा सकता है। इसी तरह लोकेशन पर्मिशन को टर्न ऑन भी कर सकते हैं।

App परमिशन ब्लॉक करने का दूसरा तरीका है यह

गूगल अकाउंट की लोकेशन हिस्ट्री फीचर को टर्न ऑफ करके भी लोकेशन ट्रैकिंग को बंद कर सकते हैं। इससे सभी गूगल ऐप्स और सर्विस को सिंगल स्वाइप से बंद किया जा सकता है।

  • गूगल अकाउंट के सेटिंग्स ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • यहां मैनेज योर गूगल अकाउंट पर क्लिक करें।
  • इसके बाद गूगल अकाउंट के प्राइवेसी और परसनलाइज़ेशन विकल्प पर क्लिक करें।
  • यहां आपको एक्टिविटी कंट्रोल सेक्शन की लोकेशन हिस्ट्री पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद लेफ्ट स्वाइप करके लोकेशन हिस्ट्री को बंद कर लें।

किसी खास ऐप की लोकेशन कैसे बंद करें?

अगर आप किसी एक ऐप की लोकेशन पर्मिशन बंद करना चाह रहे हैं तो यह तरीका अपना सकते हैं।

  • एंडरोइड फोन की सेटिंग्स में जाएं।
  • इसके बाद लोकेशन पर टैप करें।
  • इसके बाद किसी भी ऐप को लोकेशन पर्मिशन का एक्सैस देने के लिए स्वाइप कर के डोंगल ऑन या ब्लॉक कर सकते हैं।  

 Google के पास कैसे है हमारे हर सवाल का जवाब?

जब भी हमारे मन में या जहन में कोई सवाल होता है तो हम गूगल में सर्चिंग करना शुरू कर देते हैं. जिसके बाद उस सवाल का जवाब और उससे जुड़ी कई अन्य जानकारियां खुली हो जाती हैं। बस इतना ही, यह इतना ही आसान है हम एक ही क्लिक में गूगल के माध्यम से अपने हर सवाल का जवाब पा लेते हैं. अगर इस बात को देखें तो इस बात के कारण वाकई गूगल ने हमारी ज़िन्दगी को बड़ा ही आसान बना दिया है. हालाँकि एक सवाल हमारे मन में हमेशा ही रहता है कि आखिर गूगल के पास हमारे हर सवाल का जवाब कहाँ से आता है. आखिर गूगल कैसे ऐसा कर पाता है. क्या ऐसा हो सकता है कि गूगल कहीं से हमारे सवाल का जवाब कॉपी पेस्ट करके हमें दिखा देता है. आइये जानते है कि आखिर कैसे गूगल के पास हमारे हर सवाल का जवाब है. आखिर कैसे गूगल हमें एक ही क्लिक में किसी भी सवाल का जवाब दे पाता है. अगर आपके मन में भी ऐसा कोई सवाल था तो आज उसका उत्तर आपको यहाँ मिलने वाला है. आइये शुरू करते हैं और जानते हैं कि आखिर गूगल के पास हमारे हर सवाल जा जवाब कहाँ से आता है.

यहाँ आपको इस बारे में शुरू करने से पहले एक अहम् चीज़ को बता देते हैं कि गूगल के पास ऐसी कई प्रॉपर्टी हैं, जिनके माध्यम से गूगल को सही इनफार्मेशन प्राप्त होती है, जिसके बाद वह आपको आपके किसी भी सवाल का जवाब दे पाता है. आइये जानते है कि आखिर ऐसी कौन सी प्रॉपर्टी हैं जिनके माध्यम से गूगल को इनफार्मेशन मिलती है, और इसके बाद गूगल उसे हमारे सवालों का जवाब देने में कैसे इस्तेमाल करता है. 

गूगल के पास है Crawling:

जब आप Google से कोई सवाल नहीं पूछते हैं तो Google पहले वेब पेजों पर उपलब्ध चीजों की जांच करता है। इसके लिए, Google पेजों को क्रॉल करता है और नए पेज इंडेक्स में प्रवेश करता है। इस प्रक्रिया को क्रॉलिंग कहा जाता है। इसके लिए वेब क्रॉलर यानी Google bot का उपयोग किया जाता है बता दें कि गूगल बॉट वन वेब क्रॉलर सॉफ्टवेयर है। ये क्रॉलर वेबपेजों की खोज करते हैं। इन वेब पेजों को खोजने से, क्रॉलर उन पर लिंक का पालन करते हैं। ये क्रॉलर एक नंबर से दूसरे पर जाने वाले डेटा को एकत्र करते हैं और इसे Google के सर्वर में लाते हैं।

Google के पास इंडेक्सिंग (Google Indexing) हैं:

जब एक क्रॉलर को वेबपेज मिल जाता है तो कंपनी का सिस्टम उस पेज की कॉन्टेंट की जाँच करता है। इसमें पेज कंटेंट के अलावा इमेज और वीडियो भी शामिल हैं। Google यह भी जांचता है कि क्या जिस पेज को क्रॉल किया गया है वह सब के बाद है? यह दर्शकों पर एक गहन खोज की तरह है। बहुत सी बातों का ध्यान रखा जाता है जैसे कि कीवर्ड और वेबसाइट का नयापन, अर्थात कॉन्टेंट को कॉपी-पेस्ट नहीं किया जाना चाहिए। Google का सिस्टम खोज इंडेक्स में निहित सभी सूचनाओं को ट्रैक करता है। इस चरण में, डुप्लिकेट कॉन्टेंट रद्द कर दी जाती है। यह सारी जानकारी Google इंडेक्स में संग्रहीत है और इसमें एक बड़ा डेटाबेस बनाया गया है।

Google के पास है Serving Result:

जब हम Google पर कुछ खोज करने के लिए कुछ टाइप करते हैं, तो हमें अपने प्रश्न से संबंधित कई उत्तर मिलते हैं। हालांकि, यह कई चीजों पर निर्भर करता है। इसमें उच्चतम पेज रैंक है। इसी तरह, Google आपके सामने प्रत्येक प्रश्न का उत्तर सेकंडों में प्राप्त करता है। इसके अलावा, Google के कुछ आंतरिक प्रोसेसर भी उपयोग किए जाते हैं।

logo
Digit Hindi

email

Web Title: google tracks all your activity on internet here is how to protect yourself from google
Advertisements

ट्रेंडिंग टेक न्यूज़

Advertisements

LATEST ARTICLES सारे पोस्ट देखें

Advertisements
DMCA.com Protection Status