Intel AMA
Intel AMA

देश में तेजी से बढ़ रहा 5G का बाजार, 2026 तक देश में होंगे गिनती से बाहर 5G सब्सक्राइबर्स, जानें क्या कहती है नई रिपोर्ट

द्वारा Digit Hindi | पब्लिश किया गया 17 Jun 2021 | अपडेटेड इसपर 17 Jun 2021
HIGHLIGHTS
  • इस रिपोर्ट में यह नोट किया गया है कि भारत में 2020 में 4G की प्रमुख थी और 2026 तक भी यह प्रभावी रहने वाला है

  • ऐसा भी कह सकते है कि 2026 में भी यह अपने आप को ऐसे ही बनाये रखने वाला है

  • एरिक्सन का अनुमान है कि 2021 के अंत तक 5G मोबाइल सब्सक्रिप्शन 580 मिलियन से अधिक हो जाएगा, जो हर दिन अनुमानित 10 लाख नए 5G मोबाइल सब्सक्रिप्शन के साथ आगे बढ़ेगा

देश में तेजी से बढ़ रहा 5G का बाजार, 2026 तक देश में होंगे गिनती से बाहर 5G सब्सक्राइबर्स, जानें क्या कहती है नई रिपोर्ट
इंडिया में 5G को लेकर क्या कहती है ये नई रिपोर्ट, जानें कैसा होगा देश में 5G का भविष्य

एरिक्सन ने बुधवार को जून 2021 के लिए एरिक्सन मोबिलिटी रिपोर्ट का नया वर्जन जारी किया है। इस रिपोर्ट में यह नोट किया गया है कि भारत में 2020 में 4G की प्रमुख थी और 2026 तक भी यह प्रभावी रहने वाला है, ऐसा भी कह सकते है कि 2026 में भी यह अपने आप को ऐसे ही बनाये रखने वाला है। इस रिपोर्ट में ऐसा भी कहा गया है कि उस समय तक भी 60 प्रतिशत से अधिक मोबाइल ग्राहकों के पास 4G रहने वाला है, हालाँकि लगभग 20 फीसदी लोगों के पास ही 5G होगा। एरिक्सन का अनुमान है कि 2021 के अंत तक 5G मोबाइल सब्सक्रिप्शन 580 मिलियन से अधिक हो जाएगा, जो हर दिन अनुमानित 10 लाख नए 5G मोबाइल सब्सक्रिप्शन के साथ आगे बढ़ेगा। 

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में 2020 में 4G का दबदबा रहा, जो 61 प्रतिशत मोबाइल सब्सक्रिप्शन के साथ सबसे आगे चल रहा था। रिपोर्ट का अनुमान है कि 2026 तक, 4G का दबदबा बना रहेगा, जो 2026 में 66 प्रतिशत मोबाइल सब्सक्रिप्शन का प्रतिनिधित्व करता है, उस समय तक 3G को चरणबद्ध तरीके से समाप्त कर दिया जाएगा। 5G 2026 के अंत तक भारत में लगभग 26 प्रतिशत मोबाइल सब्सक्रिप्शन के तौर पर देखा जा सकता है, जो लगभग 330 मिलियन सब्सक्रिप्शन के आंकड़े को दर्शाता है। 4G सब्सक्रिप्शन 2020 में 680 मिलियन से बढ़कर 2026 में 830 मिलियन हो जाने का अनुमान है, जो 3 प्रतिशत की सीएजीआर से बढ़ रहा है।

भारत में प्रति स्मार्टफोन उपयोगकर्ता औसत ट्रैफ़िक 2019 में 13GB प्रति माह से बढ़कर 2020 में 14.6GB प्रति माह हो गया है। भारत क्षेत्र में प्रति स्मार्टफोन औसत ट्रैफ़िक विश्व स्तर पर दूसरे स्थान पर है और 2026 में प्रति माह लगभग 40GB तक बढ़ने का अनुमान है। यह आंकड़ा भी एरिक्सन की इस रिपोर्ट से ही सामने आ रहा है।

स्मार्टफोन सब्सक्रिप्शन की संख्या की बात करें तो, रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में 2020 में 810 मिलियन मोबाइल यूजर्स थे और 2026 तक 1.2 बिलियन से अधिक तक पहुंचने के 7 प्रतिशत के सीएजीआर से बढ़ने की उम्मीद है। 2020 में स्मार्टफोन सब्सक्रिप्शन कुल मोबाइल सब्सक्रिप्शन का 72 प्रतिशत हिस्सा था और देश में तेजी से स्मार्टफोन अपनाने से प्रेरित होकर, 2026 में 98 प्रतिशत से अधिक का अनुमान है। इसके अलावा, भारत क्षेत्र में प्रति स्मार्टफोन औसत ट्रैफ़िक विश्व स्तर पर दूसरे स्थान पर है और 2026 में प्रति माह लगभग 40GB तक बढ़ने का अनुमान है।

एरिक्सन के कंज्यूमरलैब स्टडी को देखें तो इसके अनुसार सामने आ रहा है कि, बेहतर 5जी के लिए पांच तरीके हैं,  भारत में कम से कम 40 मिलियन स्मार्टफोन उपयोगकर्ता 5जी के पहले वर्ष में 5जी ले सकते हैं, जो उपभोक्ताओं के लिए उपलब्ध कराया जा रहा है, यहां तक कि बंडल डिजिटल सेवाओं के साथ 5जी प्लान्स के लिए 50 प्रतिशत अधिक भुगतान करने के इच्छुक हैं, इसकी तुलना में 5जी कनेक्टिविटी के लिए 10 प्रतिशत प्रीमियम देखी गई है। वास्तव में, भारत में 67 प्रतिशत उपयोगकर्ताओं के साथ अपग्रेड करने के इरादे में सबसे बड़ी वृद्धि हुई है, जो एक बार उपलब्ध होने के बाद 5G लेने का इरादा व्यक्त करते हैं।

Digit Hindi
Digit Hindi

Email Email Digit Hindi

Follow Us Facebook Logo Facebook Logo

About Me: Ashwani And Aafreen is working for Digit Hindi, Both of us are better than one of us. Read the detailed BIO to know more about Digit Hindi Read More

Web Title: 5G future in india 5G market in india
Tags:
5G smartphone user internet data expenses Ericsson Mobility Report 5G mobile subscribers in India ericsson mobility report 4g in india
Advertisements

ट्रेंडिंग टेक न्यूज़

Advertisements

LATEST ARTICLES सारे पोस्ट देखें

Advertisements
DMCA.com Protection Status