सावधान! कहीं आपके iPhone पर भी तो नहीं आया ये मेसेज, गलती से भी न करें क्लिक, खो बैठेंगे सारी जमा-पूंजी

सावधान! कहीं आपके iPhone पर भी तो नहीं आया ये मेसेज, गलती से भी न करें क्लिक, खो बैठेंगे सारी जमा-पूंजी
HIGHLIGHTS

एप्पल यूजर्स फिशिंग स्कैम्स का निशाना बन रहे हैं।

स्कैमर्स आईफोन यूजर्स को बेवकूफ बनाने के लिए कपटी तकनीकों को अपना रहे हैं।

स्कैमर्स "Apple Support" का सदस्य होने का दिखावा करते हुए आईफोन यूजर्स को मैलिशियस ईमेल्स और मेसेजेस भेजते हैं।

आज के ऑनलाइन जमाने में दाएं-बाएं और हर जगह इस हद तक घोटाले हो रहे हैं कि हम किसी भी चीज पर विश्वास नहीं कर सकते। अगर आप एक iPhone यूजर हैं तो आप अगला निशाना हो सकते हैं, इसलिए इसे ध्यान से पढ़ें। Apple यूजर्स फिशिंग स्कैम्स का निशाना बन रहे हैं। स्कैमर्स एप्पल सपोर्ट की तरफ से होने का दिखावा करके यूजर्स को उनका पासवर्ड रीसेट करने के लिए कह रहे हैं। डिटेल्स जानने के लिए आगे पढ़ें।

स्कैमर्स आईफोन यूजर्स को बेवकूफ बनाने के लिए कपटी तकनीकों को अपना रहे हैं और आखिर में उन्हें उनके एप्पल अकाउंट्स का एक्सेस देने के लिए मजबूर कर रहे हैं। यह काफी खतरनाक है क्योंकि इससे यूजर्स अपने डिवाइसेज़ और पर्सनल डेटा का एक्सेस खो सकते हैं।

iPhone यूजर्स को ऐसे झांसे में लेते हैं स्कैमर्स

स्कैमर्स “Apple Support” का सदस्य होने का दिखावा करते हुए आईफोन यूजर्स को मैलिशियस ईमेल्स और मेसेजेस भेजते हैं। वे मेसेजेस और ईमेल्स विश्वसनीय लगते हैं और यूजर्स घबराकर लिंक्स पर क्लिक कर देते हैं। ऐसा करने पर वे एक एप्पल पेज पर पहुँच जाते हैं और वह भी काफी ऑथेंटिक लगता है। जैसे ही वे उस नकली वेबसाइट पर पहुँच जाते हैं, यूजर्स से उनके लॉग-इन क्रेन्डेन्शियल्स एंटर करने के लिए कहा जाता है और तभी स्कैमर्स का लग जाता है जैकपॉट!

यह सब यहीं खत्म नहीं होता, कई एप्पल यूजर्स यह भी शिकायत कर रहे हैं कि उनके एप्पल डिवाइसेज़ पर नोटिफिकेशन्स की भरमार हो रही है जिनमें उन्हें पासवर्ड रीसेट और लॉगिन के लिए सहमति देने के लिए कहा जा रहा है। इन मेसेजेस के लगातार आते रहने पर इन्हें नजर अंदाज करना मुश्किल हो जाता है।

परिस्थिति को और भी खतरनाक दिखाने और यूजर्स को घबराहट में लाने के लिए ये स्कैमर्स एप्पल यूजर्स को कॉल भी करते हैं। वे यूजर्स से कहते हैं कि सुरक्षा उद्देश्यों के लिए उन्हें अपनी डिटेल्स शेयर करनी ही चाहियें। यह सबकुछ इतना वैध दिखता और लगता है कि इस पर विश्वास न करना मुश्किल हो जाता है। यहाँ तक कि यूजर्स इसमें फँसकर अपना OTT तक दे बैठते हैं।

इसलिए सतर्क रहें और याद रखें कि एप्पल एग्ज़ीक्यूटिव आपको कभी भी कॉल नहीं करते और आपसे आपके क्रेन्डेन्शियल्स और डिटेल्स के लिए नहीं पूछते।

Faiza Parveen

Faiza Parveen

फाईज़ा परवीन डिजिट हिंदी में एक कॉन्टेन्ट राइटर हैं। वह 22 मई, 2023 से डिजिट में काम कर रही हैं और इससे पहले वह 6 महीने डिजिट में फ्रीलांसर जर्नलिस्ट के तौर पर भी काम कर चुकी हैं। वह दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक स्तर की पढ़ाई कर रही हैं, और उनके पसंदीदा तकनीकी विषयों में स्मार्टफोन, टेलिकॉम और मोबाइल ऐप शामिल हैं। उन्हें हमारे हिंदी पाठकों को वेब पर किसी डिवाइस या सेवा का उपयोग करने का तरीका सीखने में मदद करने के लिए लेख लिखने में आनंद आता है। सोशल मीडिया की दीवानी फाईज़ा को अक्सर अपने छोटे वीडियो की लत के कारण स्क्रॉलिंग करते हुए देखा जाता है। वह थ्रिलर फ्लिक्स देखना भी काफी पसंद करती हैं। View Full Profile

Digit.in
Logo
Digit.in
Logo