Nokia 3.2 रिव्यु

द्वारा Digit Hindi | पब्लिश किया गया Jun 26 2019
Nokia 3.2 रिव्यु

Make your home smarter than the average home

Make your life smarter, simpler, and more convenient with IoT enabled TVs, speakers, fans, bulbs, locks and more.

Click here to know more

Nokia 3.2 डिजाईन और बनावट

Nokia 4.2 की तरह ही Nokia 3.2 में भी एक curved candybar design है लेकिन दोनों मॉडल्स के बीच काफी फर्क है। Nokia 4.2 में जहां आपको सामने और पीछे ग्लास फिनिश मिलती है वहीँ Nokia 3.2 में ग्लॉसी प्लास्टिक बैक पैनल मिलता है, जिससे केवल स्क्रीन को एक 2.5D कर्व्ड ग्लास के साथ कवर किया जा सकता है। नोकिया ने अपने प्रेस विज्ञप्ति या वेबसाइट पर Corning Gorilla Glass protection के बारे में कोई चर्चा नहीं की है। बड़ी स्क्रीन होने की वजह से आपको फोन को हाथ में पकड़ने में दिक्कत हो सकती है। मेरे हिसाब से अगर आप one -handed यूज़र हैं तो फ़ोन को इस्तेमाल करने में आपको असहजता हो सकती है।

Sorry about the lint, the back plastic panel is a magnet for smudges and fingerprints

हालाँकि नोकिया 3.2 का बैक पैनल hollow-sounding plastic से बना है, लेकिन यह फोन को क्लास देता है, खासकर ग्लॉसी ब्लैक रंग में। आपको कॉलेज में अपने साथियों के सामने आत्मविश्वास के साथ इस फोन को इस्तेमाल करने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। डिवाइस के सामने और पीछे के पैनल पर उंगलियों के निशान बनेंगे। बैक पैनल को भी अगर आप मज़बूती से पकड़ते हैं तो पैनल के मुड़ने के चांस भी हैं। नोकिया 3.2 में आपको राउंड किनारों के साथ एक U-shaped notch मिलती है।

Dedicated Google Assistant key on left side

फोन की बॉडी के ऊपर की तरफ 3.5 मिमी ऑडियो जैक और एक सेकेंडरी माइक्रोफोन है। नीचे की ओर प्राइमरी माइक्रोफोन, एक लाउडस्पीकर ग्रिल और एक माइक्रोयूएसबी पोर्ट (चार्जिंग और डेटा ट्रांसफर के लिए) है। वहीँ दाईं ओर वॉल्यूम रॉकर और पावर बटन हैं, जो डिम व्हाइट में चार्जिंग इंडिकेटहट र और नोटिफिकेशन का भी काम करता है। दोनों बटन स्मूथ हैं। फ़ोन के बाईं ओर एक Google Assistant key मिलती है जिसे दबाने से Google का लोकप्रिय डिजिटल असिस्टेंट “ask” मोड में आ जाता है। पावर यूज़र्स को यह जानकर निराशा होगी कि इंस्टाग्राम या व्हाट्सएप जैसे अन्य ऐप लॉन्च करने के लिए सेटिंग्स में बटन को दोबारा रीप्रोग्राम नहीं किया जा सकता है। इस तरह नोकिया 3.2  को उसकी कीमत के लिए काफी शानदार तरीके से बिल्ड और डिज़ाइन किया गया है।

Glows steadily while charging

Nokia 3.2 डिस्प्ले और ऑडियो

Nokia 3.2 हाल ही में लॉन्च किए गए Xiaomi Redmi 7 से भी काफी मिलता है। नोकिया 3.2 में 6.26 इंच का a-Si TFT LCD पैनल दिया गया है, जिसका आस्पेक्ट रेशियो 19:9 है और इसका रिज़ॉल्यूशन 720 x 1520 पिक्सल है। इसकी पिक्सेल डेंसिटी 269 पिक्सल प्रति इंच है। इसकी तुलना में, नोकिया 4.2 बहुत कम, 5.71-इंच LCD के साथ आता है। नोकिया 3.2 का "सेल्फी नॉच" कुछ ऐप्स को पूरी स्क्रीन भरने की अनुमति नहीं देता है।

नोकिया 3.2 की डिस्प्ले उससे कहीं ज़्यादा डिम है, जितना कि वह दिखाई देती है, अधिकतम ब्राइटनेस के बावजूद। हमारे टेस्ट किट के मुताबिक रिव्यू यूनिट  ने ब्राइटनेस स्लाइडर को अधिकतम करते हुए 409 LUX रिकॉर्ड किया। अफसोस की बात है कि हमें सबसे कम ब्राइटनेस लेवल को रिकॉर्ड करने में कुछ परेशानी हुई, क्योंकि ब्राइटनेस स्लाइडर काम करना बंद कर रहा था और यह सब सेटिंग्स में Adaptive Brightness off करने के बावजूद था। डिस्प्ले पर रंग थोड़ा धुले हुए और फ़ीके दिखाई दिए। देखा जाए तो डिस्प्ले नोकिया 3.2 की सबसे बड़ी खासियत तो नहीं है, लेकिन यह सबसे खराब भी नहीं है।

साउंड की बात करें तो लाउडस्पीकर से साउंड बहुत तेज़ नहीं आती है, लेकिन काम चलाऊं ज़रूर है। The Weeknd द्वारा Starboy जैसे ट्रेंडिंग इलेक्ट्रॉनिक गानों पर वोकल्स को स्पष्ट रूप से सुना जाता है, लेकिन बास का बहुत कम मिलता है। स्पीकरफोन के ज़रिये कॉल के लिए लाउडस्पीकर ठीक है। प्लस साइड पर, शोरगुल वाली जगह पर कॉल लेने के लिए ईयरपीस तेज है। अगर आप खुद को ऑडीओफाइल कहते हैं, तो यह नोकिया 3.2 को इयरफ़ोन के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं।

Nokia 3.2 परफॉरमेंस और गेमिंग

Nokia 3.2 Qualcomm Snapdragon 429 chipset से लैस है जिसे जून 2017 में पेश किया गया था। Qualcomm के मिड-टायर प्लेटफॉर्म में एक 12-nanometre quad-core 64-bit CPU, 2.0GHz (4 ARM Cortex-A53 high-efficiency cores) शामिल हैं। Qualcomm Adreno 504 GPU की मदद से रेंडरिंग ग्राफिक्स का ध्यान रखा गया है। नोकिया के मुताबिक नोकिया 3.2 दो वैरिएंट में उपलब्ध है जिनमें एक 2 जीबी रैम+16 जीबी स्टोरेज (8,990 रुपये) और दूसरा 3 जीबी रैम+32 जीबी स्टोरेज (10,790 रुपये) शामिल हैं। हमारा रिव्यू यूनिट 3GB RAM/32GB था जिसकी स्टोरेज को 400GB तक माइक्रोएसडी कार्ड से बढ़ाया जा सकता था।

CPU  बेंचमार्क टेस्ट में Nokia 3.2 ने अच्छा स्कोर हासिल किया। इसके स्कोर नोकिया 4.2 के समान थे। AnTuTu 7.0 पर, नोकिया 3.2 ने 63903 स्कोर किया। वहीँ इस टेस्ट में Nokia 4.2 ने 62985 और Redmi 7 ने 104809 पर बाजी मारी। गीकबेंच के सिंगल-कोर और मल्टी-कोर रिजल्ट में नोकिया 3.2 ने क्रमशः 852और 2453 स्कोर किया। इसकी तुलना में, नोकिया 4.2 ने क्रमशः 894 और 3338 स्कोर किया। वहीँ Redmi 7 ने दोनों फोन को क्रमशः 1240 और 4370 स्कोर कर पीछे छोड़ा।

डेली बेसिस पर नोकिया 3.2 रिव्यू यूनिट की परफॉरमेंस कुछ खास नहीं रही। एनीमेशन में दिक्कत आयी, खासकर होम स्क्रीन पर लौटने के दौरान, ऐप्स के बीच स्विच करने और नोटिफिकेशन बार को नीचे खींचने में भी काफी दिक्कत हुई। फोन अक्सर एक मेनू के तहत ज़रूरी एलिमेंट्स को एनिमेट करते हुए फ़्रेम को छोड़ देता है, जिससे फोन और भी स्लो  लगता है, जबकि इतना स्लो नहीं है। Chrome और YouTube जैसे ऐप्स लॉन्च होने में लगभग चार सेकंड लगे। ऐसे में नोकिया 3.2 का इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन अभी बाकी चीज़े देखना बाकी हैं। कुछ दिनों के लिए इसका इस्तेमाल करने के बाद यह बात सामने आती है कि यह एक सुस्त डिवाइस है, खासकर जब स्क्रीन पर पिक्सल को पुश करने की बात आती है।

GPU बेंचमार्क टेस्ट पर, नोकिया 3.2 ने काफी खराब स्कोर किया। उदाहरण के लिए, 3DMark के स्लिंग शॉट पर, फोन ने 415 स्कोर किया। तुलना करें तो नोकिया 3.2 और रेडमी 7 क्रमशः एक ही इस टेस्ट में 821 और 916 में कामयाब रहे। वहीँ रियल-वर्ल्ड गेमप्ले हमारे रिव्यू  यूनिट पर एक निराशाजनक एक्सपीरियंस था। हमारे GameBench मेट्रिक्स टूल की मानें तो, Asphalt 9 औसत दर्जे के फ्रेम दर 8 फ्रेम प्रति सेकंड पर चला।  गेम में खिलाड़ियों और विरोधियों की कारों की आवाजाही झटकेदार और तनावपूर्ण थी। दूसरी ओर, PUBG मोबाइल औसतन 21 फ्रेम प्रति सेकंड की दर से चला। यह लोकप्रिय  battle royale title रेसिंग गेम की तुलना में अधिक खेलने योग्य था। इसके बाद भी इसे खेलना आसान नहीं था। ऐसे में अगर आप गेमिंग के शौक़ीन  हैं और फ़ोन पर गेमिंग के लिए नोकिया 3.2 को खरीदने की सोच रहे हैं तो आप अपना इरादा बदल दें। इसकी जगह ठीक-ठाक बजट में आप Redmi 7 के बारे में सोच सकते हैं।

Nokia 3.2 सॉफ्टवेयर

सभी नए नोकिया स्मार्टफोन की तरह, नोकिया 3.2 Google के Android One programme पर रन करता है। इसका मतलब यह है कि यह एंड्रॉइड 9 पाई का एक निकट-स्टॉक संस्करण चलाता है और दो साल तक नियमित सुविधा और सुरक्षा अपडेट के वादे के साथ आता है। बता दें कि फोन डिफ़ॉल्ट रूप से एक नया "पिल-बेस्ड" नेविगेशन सिस्टम, एडेप्टिव बैटरी और डिजिटल वेलबिंग का सपोर्ट करता है। नोकिया 3.2  FM radio के लिए कई ऐप के साथ आता है। स्टॉक एंड्रॉइड यूज़र्स यह जानकार खुश होंगे कि नोकिया 3.2 किसी भी अनावश्यक ब्लोटवेयर या विज्ञापनों के साथ नहीं आता है।

Nokia 3.2 कैमरा

जहां हर दूसरे फोन में पीछे के पैनल पर आज के समय में ज़्यादातर कम से कम ड्यूल कैमरा सेटअप दिया जाता यही वहीँ कंपनी ने इसमें बैक पैनल पर 2 रियर कैमरा दिया है। Nokia 3.2 के बैक पैनल पर सिंगल शूटर f / 2.2 के अपर्चर वाला 13-मेगापिक्सल का 1.12µm सेंसर है। यह सिंगल एलईडी फ्लैश के साथ आता है। फ्रंट शूटर f / 2.2 के अपर्चर और 77-degree field of view के साथ 5-मेगापिक्सेल 1.12 viewm सेंसर है। फोन फेस अनलॉक फीचर के लिए भी फ्रंट कैमरे का उपयोग करता है।

दिन में रियर कैमरा से ली गयीं तस्वीरें ब्राइट और रंगीन होती हैं, लेकिन डिस्प्ले में आपको डिस्टॉरशन मिल सकता है। सब्जेक्ट का कोई भी हिस्सा कभी फुल फोकस में नहीं रहता। वहीँ थोड़ी कम रोशनी में घर के अंदर ली गई तस्वीरें दिखाई देती हैं। यही भी डिस्टॉरशन के साथ नज़र आयीं। सेल्फी का भी यही हाल रहा। घर के अंदर ली गयीं तस्वीरें डिम लाइट में क्लैरिटी के साथ नज़र नहीं आयीं। हां, फ्रंट फ्लैश ON करने से शायद आपको कुछ बेहतर रिजल्ट मिल सके लेकिन आप शोर से छुटकारा नहीं सकते।

Nokia 3.2 पर डिफॉल्ट कैमरा ऐप Nokia 4.2 की तरह स्लो नहीं है, लेकिन फिर भी यह ज़्यादा खास नहीं है। ऐप को सब्जेक्ट पर फोकस करने में, तस्वीर कैप्चर करने में और में और उसके प्रीव्यू में समय लगता है। यह इनबिल्ट portrait या Live Focus mode के साथ नहीं आता है, लेकिन इसमें इंस्टाग्राम फैंस के लिए एक Square mode की सुविधा है।  इस तरह नोकिया 3.2 का कैमरा परफॉरमेंस नोकिया 4.2 की तुलना में बेहतर है, लेकिन कुछ खास या ज़्यादा नहीं। ऐसे में नोकिया 3.2 में आपको एक अच्छा कैमरा सेटअप मिलता है लेकिन आप इनसे शानदार फोटोग्राफी नहीं कर सकते हैं। 

Nokia 3.2 पर डिफॉल्ट कैमरा ऐप Nokia 4.2 की तरह स्लो नहीं है, लेकिन फिर भी यह ज़्यादा खास नहीं है। ऐप को सब्जेक्ट पर फोकस करने में, तस्वीर कैप्चर करने में और में और उसके प्रीव्यू में समय लगता है। यह इनबिल्ट portrait या Live Focus mode के साथ नहीं आता है, लेकिन इसमें इंस्टाग्राम फैंस के लिए एक Square mode की सुविधा है।

Normal mode, daytime, focus on flower petals

Normal mode, daytime

Normal mode, daytime

Square mode, daytime

Square mode, low light

Normal mode, indoors

Normal mode, indoors, moderately low light

Selfie with flash (display-powered), very low light

Selfie, indoors

Nokia 3.2 बैटरी

हमारे स्टैण्डर्ड बैटरी बेंचमार्क टेस्ट में Nokia 3.2 ने 514 मिनट स्कोर किया। वहीँ इसकी तुलना में Nokia 4.2, 530 मिनट और Redmi 7  ने यहां 545 मिनट स्कोर किया। नोकिया 3.2 में 4,000mAh की बैटरी है। बैटरी परफॉरमेंस कुछ खास आपको न लगे और ऐसा थोड़ा दमदार चिपसेट की कमी की वजह से हो सकता है। हैवी इस्तेमाल के बाद एक बार चार्ज करते हैं तो आप लगभग डेढ़ दिन तक फोन का इस्तेमाल कर सकते हैं।

PUBG मोबाइल चलाने के लगभग 15 मिनट के बाद, हमारा रिव्यू यूनिट टोटल चार्ज से 6% पर आ गया। वहीँ सड़क पर नेविगेट करने के एक घंटे बाद (वाई-फाई और ब्लूटूथ इनेबल करने और फुल स्क्रीन ब्राइटनेस के साथ), रिव्यू यूनिट फुल चार्ज के बाद 10 % चार्ज चला गया जो नोकिया 4.2 और रेडमी 7 के बराबर ही है। ऐसे में नोकिया 4.2 अपने दो दिन के बैटरी के वादे पर खरा उतरता है।

Nokia 3.2 निष्कर्ष

नोकिया की वेबसाइट के मुताबिक नोकिया 3.2 के 3 जीबी रैम वैरिएंट की कीमत 10,790 रुपये है। नोकिया 4.2 के 3 जीबी रैम वैरिएंट की कीमत 10,990 रुपये है। इस तरह Nokia 3.2 और Nokia 4.2. की कीमत में बारीक अंतर है। वहीँ स्क्रीन साइज़ को छोड़कर Nokia 4.2, Nokia 3.2 से काफी बेहतर है। वहीँ अगर आपको6.26-inch की स्क्रीन चाहिए तो आप बेशक Nokia 3.2 को लें लेकिन अगर एक क्लासी लुक बजट के साथ चाहिए तो Nokia 4.2 को आप चुन सकते हैं। इसके साथ ही किसी और ब्रांड पर जाना चाहते हैं तो Redmi 7 भी आपके लिए बेहतर है। कुल मिलाकर Nokia 3.2 लगभग हर मामले में एवरेज परफॉर्म करता है।

logo
Digit Hindi

नोकिया 3.2

Advertisements

ट्रेंडिंग टेक न्यूज़

Advertisements
Advertisements

टॉप प्रोडक्ट्स

पोपुलर मोबाइल फोंस

सारे पोस्ट देखें

Digit caters to the largest community of tech buyers, users and enthusiasts in India. The all new Digit in continues the legacy of Thinkdigit.com as one of the largest portals in India committed to technology users and buyers. Digit is also one of the most trusted names when it comes to technology reviews and buying advice and is home to the Digit Test Lab, India's most proficient center for testing and reviewing technology products.

हम 9.9 लीडरशिप के तौर पर जाने जाते हैं! भारत की एक अग्रणी मीडिया कंपनी के निर्माण और प्रगतिशील उद्योग के लिए नए लीडर्स को करते हैं तैयार