गूगल पिक्सल Review

द्वारा Sameer Mitha | अपडेटेड Sep 11 2017
गूगल पिक्सल Review
DIGIT RATING
78 /100
  • design

    98

  • performance

    79

  • value for money

    59

  • feature

    63

  • PROS
  • अच्छी बनावट और डिज़ाइन
  • बढ़िया प्रदर्शन
  • शानदार कैमरे (रियर और फ्रंट दोनों)
  • गूगल असिस्टेंट उत्तम तो नहीं है लेकिन काफी रोचक है.
  • CONS
  • मोनो स्पीकर
  • महंगा है.

निर्णय

गूगल पिक्सल को इस्तेमाल करने पर आईफ़ोन जैसा अनुभव मिलता है, लेकिन अभी भी यह पूरी तरह से आईफ़ोन के जैसा नहीं है. यह अभी तक का सबसे बढ़िया एंड्राइड फ्लैगशिप है, लेकिन क्या इसकी कीमत सही मानी जा सकती है. अगर आप कीमत के हिसाब से देखने तो वनप्लस 3 कीमत के हिसाब से ज्यादा बढ़िया स्मार्टफ़ोन है.

BUY गूगल पिक्सल

Buy now on amazon उपलब्ध 34000
Buy now on flipkart स्टॉक के बाहर 30499

गूगल पिक्सल detailed review

मुझे हमेशा से ही गूगल के नेक्सस स्मार्टफ़ोन बहुत ही पसंद हैं. इनका एंड्राइड अनुभव काफी अच्छा है, इनका डिज़ाइन भी बहुत ही खास है. नेक्सस डिवाइसेस को में पसंद करता हूँ इस बारे में तो में पहले भी कई बार बता चुका हूँ, लेकिन अगर आपने यह सब मिस कर दिया है तो आप इस रिव्यु के दौरान इस बारे में जान सकेंगे.


सैन फ्रांसिस्को में आयोजित पिक्सल इवेंट में गूगल ने आधिकारिक तौर पर नेक्सस ब्रांड को बंद करने की घोषणा की, और बताया कि उसके फ़ोन अब पिक्सल ब्रांड के तहत मिलेंगे. नेक्सस डिवाइसेस सस्ते थे और गीक्स को यह काफी पसंद थे. हालाँकि पिक्सल डिवाइसेस काफी अलग हैं. यह काफी महंगे हैं, और इसमें सबसे खास फीचर्स और स्पेक्स दिए गए हैं. लेकिन क्या एप्पल और सैमसंग को मात देने के लिए गूगल की यह कोशिश काफी है?

बनावट और डिज़ाइन

इस डिवाइस की बैक काफी अनोखी है, इसमें उपर ग्लास दिया गया है और नीचे की तरह मेटल मौजूद है. अगर आप उपर के ग्लास बैक को छुपा लें तो यह आपको आईफ़ोन के जैसे ही दिखाई देगा. इसे वजह से गूगल ने इसे आधी ग्लास बैक के साथ पेश किया है, वैसे इस ग्लास का कोई उपयोग नहीं हिया. मेटल बॉडी अच्छी है और यह हीट को अच्छे से हैंडल करती है. ग्लास से ऐन्टेना का प्रदर्शन अच्छा होता है, लेकिन इसके बाद भी पिक्सल इस मामले में दूसरे फोंस के जैसा ही प्रदर्शन करता है.

पिक्सल काफी हल्का है, इसका वजह 143 ग्राम है, यह मेरे द्वारा इस्तेमाल किया गया अब तक का सबसे हल्का स्मार्टफ़ोन है. इसकी मोटाई सिर्फ 8.5mm है. इसका 5-इंच का फॉर्म फैक्टर भी बढ़िया है, यह सिंगल हाथ से इस्तेमाल किया जा सकने वाला बेस्ट डिवाइस है. रियर में मौजूद फिंगरप्रिंट सेंसर तक आसानी से पहुँचा जा सकता है यह काफी अच्छा काम करता है.

मेरे हिसाब से पिक्सल की बनावट और डिज़ाइन बहुत ही बढ़िया है. यह हल्का है, लेकिन नाज़ुक नहीं है, इसे एक हाथ से इस्तेमाल करने के लिए बनाया गया है, और यह मेरी हथेली में बड़े ही आराम से आ गया है. अपनी राउंडेड एज की वजह से यह काफी एर्गोनोमिक है, यह इस मामले में आईफ़ोन 7 को मुकाबला देता है. इस स्मार्टफ़ोन की सबसे बड़ी कमी है इसमें मौजूद मोनो स्पीकर्स. मैंने हमेशा स्मार्टफ़ोन में स्टीरियो स्पीकर्स का इस्तेमाल किया है. आईफ़ोन 7 में भी स्टीरियो स्पीकर सेटअप मौजूद है. लेकिन इसके मोनो स्पीकर्स काफी तेज़ हैं.

डिस्प्ले और यूआई

पिक्सल में 1080p एमोलेड डिस्प्ले मौजूद है और यह काफी सुन्दर है. इसकी ब्राइटनेस 709 लक्स है, जब हमने इसे लुमिंस मीटर पर टेस्ट किया. यह 10 लक्स नीचे भी जाती है, जो की काफी बढ़िया है अगर आप अपने फ़ोन को अंधेरे में इस्तेमाल करते हैं. अगर इसकी ब्राइटनेस, कलर रिप्रोडक्शन और डिस्प्ले के प्रदर्शन को देखें तो इसमें कोई भी कमी नहीं है.

पिक्सल XL की तरह ही, पिक्सल का टच भी काफी अच्छा है, यह काफी प्रीमियम फील देता है. इसकी कंट्रास्ट बहुत ही अच्छे हैं, जैसे कि नए आईफ़ोन के हैं. इसकी डिस्प्ले बहुत ही बढ़िया है. यह डिस्प्ले बाज़ार में मौजूद सबसे बढ़िया डिस्प्ले में से एक है. यह किसी भी स्मार्टफ़ोन में मिलने वाली सबसे बढ़िया 1080p डिस्प्ले है.

प्रदर्शन और यूआई

अगर इसके बेंचमार्क स्कोर के बारे में बात करें तो, कई मामलों में पिक्सल का प्रदर्शन XL से अच्छा है और कई जगह पिक्सल XL इसे मात देता है. यहाँ नीचे इसके बेंचमार्क स्कोर दिए गए हैं. इनको देखने से साफ़ पता चलता है कि आईफ़ोन 7 और आईफ़ोन 7 प्लस इससे काफी आगे हैं.


Create bar charts

 

रोजाना इस्तेमाल में इसका प्रदर्शन के बारे में बात करें तो, पिक्सल काफी स्मूथ है. इस पर सारे ऐप्स जल्दी से ओपन होते हैं और सभी गेम्स भी इस पर बढ़िया से खेले जा सकते हैं. पॉवर बटन पर डबल टैप करके कैमरा ऐप को जल्दी से ओपन किया जा सकता है, इसमें एंड्राइड 7 के मल्टी-विंडो क्षमताओं का इस्तेमाल भी किया जा सकता है और यह बहुत ही बढ़िया से काम करते हैं. रोजाना के इस्तेमाल में इसका प्रदर्शन बहुत ही बढ़िया है. मुझे इससे कोई भी परेशानी नहीं है.

अगर बात करें कि यह फ़ोन कितना गर्म होता है तो, पिक्सल काफी गर्म होता है. 10 मिनट की 4K वीडियो रिकॉर्डिंग के दौरान यह 46 डिग्री तक पहुँच जाता है, गेमिंग के दौरान यह 41 डिग्री तक पहुँचा. इस फ़ोन का मेटल बॉडी वाला हिस्सा हीट को जल्दी ख़त्म करता है. हीट कम करने के मामले में यह अच्छा है, वैसे इस स्मार्टफोन को इतना ज्यादा गर्म नहीं होना चाहिए. आपको इस फ़ोन के टॉप हिस्से पर ज्यादा हीट मेहसूस नहीं होगी. लम्बे समय के दौरान हीट की वजह से इस फोन का हार्डवेयर ख़राब होगा.

अगर इसके यूआई के बारे में बात करें तो, यूआई के मामले में गूगल ने अच्छा काम किया है. मुझे कुछ चीज़ें बहुत ही पसंद आई, जैसे आप वालपेपर हर दिन बदल सकते हैं और इनकी पहले से ही सारणी बना सकते हैं.

गूगल असिस्टेंट प्रतिभाशाली है और काफी बेवकूफ भी. जैसे कि, मैं इससे गणित के सबसे मुश्किल सवाल पूछा, रास्तों के बारे में पूछा, रिमाइंडर सेट किए, फिल्मों के रिव्यु ढूंढें. इसने बिलकुल सही काम किया. लेकिन मैंने जब इसे बोला की गूगल फ़ोन को लॉक करो और स्क्रीन को लॉक करो, इसने यह नहीं किया.

कुलमिलाकर बोलें तो इसका प्रदर्शन बहुत ही अच्छा है और इसका यूआई बहुत ही स्मूथ है, लेकिन यह अभी भी आईफ़ोन के लेवल तक नहीं पहुँच पाया है. हालाँकि एंड्राइड एक हिसाब से यह अब तक का सबसे बढ़िया डिवाइस है.

कैमरा

गूगल का दावा है कि पिक्सल का 12.3 मेगापिक्सल का कैमरा अब तक का सबसे बढ़िया स्मार्टफ़ोन कैमरा है. वैसे तो यह एक बड़ा दावा है लेकिन कंपनी ने इसके पास पहुँचने की अच्छी कोशिश की है. इसका कैमरा अच्छी तस्वीरें लेता है. पिक्सल का कैमरा आईफ़ोन जैसा है और कई मामलों में तो यह उसे मात भी दे देता है. कम रोशनी में पिक्सल का कैमरा कुछ खास कम नहीं करता है.

बैटरी

पीसी मार्क टेस्ट पर, इस स्मार्टफ़ोन ने 8 घंटें और 19 मिनट तक काम किया, जो अच्छा है. लेकिन यह आइडियल नहीं है. यह एक्सपीरिया XZ से घंटा भर ज्यादा है और हम बोल सकते है कि रियल वर्ल्ड में यह आईफ़ोन 7 के जितना ही बैटरी बैकअप देती है. यह बेस्ट नहीं माना जा सकता है क्योंकि वनप्लस 3 का बैकअप इससे अच्छा है.

रियल वर्ल्ड में इसके प्रदर्शन के बारे में बात करें तो यह डिवाइस आम इस्तेमाल में एक दिन तक काम करती है, जो अच्छा है, लेकिन आइडियल नहीं है. आईफ़ोन 6s प्लस और वनप्लस 3 का प्रदर्शन बढ़िया है लेकिन पिक्सल की बैटरी भी अच्छी मानी जानी चाहिए.

निष्कर्ष

यह 60 हज़ार रूपये का सवाल है, और इसका छोटा सा जवाब है कि पिक्सल अब तक का सबसे बढ़िया एंड्राइड स्मार्टफ़ोन है. इससे पता चला है कि गूगल का फ़ोन क्या कर सकता है, लेकिन मैं इस फ़ोन पर 50 हज़ार से ज्यादा खर्च नहीं कर सकता हूँ. क्योंकि वनप्लस 3 इसके जितना ही बढ़िया है और कम कीमत में भी आता है. पिक्सल का कैमरा अच्छा है, यह एक ही एरिया है जिसमें यह वनप्लस 3 को मात देता है.

अगर आपको एंड्राइड पसंद है, और आप अपने फ़ोन को आखिरी लिमिट तक पुश करना चाहते हैं तो पिक्सल एक अच्छी डिवाइस है, साथ ही वनप्लस 3 के साथ भी जाया जा सकता है. 57 हज़ार रूपये की कीमत में मुझे सिर्फ एक फंक्शनल डिवाइस ही नहीं चाहिए. मुझे उससे ज्यादा चाहिए. पिक्सल का कैमरा आईफ़ोन जैसा है और कई मामलों में तो यह उसे मात भी दे देता है. लेकिन यह आईफ़ोन 7 को दूसरे मामलों में मात नहीं दे पाता है. यह सबसे बढ़िया एंड्राइड फ्लैगशिप तो है लेकिन यह आईफ़ोन को मात देने में इसे अभी थोड़ा और समय लगेगा.

Related Reviews

नोकिया 3.2 Review

इनफिनिक्स S4 Review

कूलपैड Cool 5 Review

logo
Sameer Mitha

Sameer Mitha lives for gaming and technology is his muse. When he isn’t busy playing with gadgets or video games he delves into the world of fantasy novels.

Advertisements
Advertisements

गूगल पिक्सल

गूगल पिक्सल

Digit caters to the largest community of tech buyers, users and enthusiasts in India. The all new Digit in continues the legacy of Thinkdigit.com as one of the largest portals in India committed to technology users and buyers. Digit is also one of the most trusted names when it comes to technology reviews and buying advice and is home to the Digit Test Lab, India's most proficient center for testing and reviewing technology products.

हम 9.9 लीडरशिप के तौर पर जाने जाते हैं! भारत की एक अग्रणी मीडिया कंपनी के निर्माण और प्रगतिशील उद्योग के लिए नए लीडर्स को करते हैं तैयार