Daksha Robot: देश का पहला एंटी टेरर रोबोट है Daksha; जानिये इसके 10 शानदार फीचर

द्वारा Digit Hindi | पब्लिश किया गया 28 Jan 2020
Daksha Robot: देश का पहला एंटी टेरर रोबोट है Daksha; जानिये इसके 10 शानदार फीचर

How does IBM make AI Fair, Transparent and Accountable?

Learn about the four pillars of trusted AI, the tools to help, and how they work together as you manage production AI with trust and confidence

Click here to know more

युद्ध या शीत युद्ध एक विश्वव्यापी घटना है। दुनिया के लगभग हर देश के अपने पड़ोसी देश के साथ कुछ सीमाएँ और आर्थिक विवाद हैं। यह युद्ध जैसी स्थिति वास्तविक युद्ध में बदल जाती है और दोनों पक्षों के सैनिक इस युद्ध में मारे जाते हैं। इसी को देखते हुए लगभग सभी के सभी देश अब एक रोबोटिक आर्मी का निर्माण कर रहा हैं, ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि जान माल की हानि को काफी हद तक कम किया जा सके। ऐसे में भारतीय परिपेक्ष्य में डिफेन्स रिसर्च एंड डेवलपमेंट आर्गेनाइजेशन यानी DRDO की ओर से भारत का पहला एंटी टेरर रोबोट निर्मित किया है, इस रोबोट को Daksha नाम दिया गया है। आज हम आपको इसी रोबोट के बारे में 10 ख़ास बातें बताने वाले हैं, और इसके बाद आप जान जायेंगे कि आखिर यह जिस लक्ष्य को ध्यान में रखकर निर्मित किया गया है, क्या उसपर लक्ष्य को पूरा कर सकता है या नहीं। तो आइये शुरू करते हैं और जानते हैं कि आखिर Daksha रोबोट किन 10 फीचर्स के कारण सबसे खास बन जाता है। 

क्या है Daksha Robot?

बैटरी से चलने वाला रोबोट 'Daksha' मुख्य रूप से कई कैमरों, एक्स-रे उपकरणों का उपयोग करके आईईडी की सुरक्षित हैंडलिंग और विनाश आदि का पता लगाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इसमें एक बन्दूक है, जो बंद दरवाजों को तोड़ सकती है। इसमें लगा स्कैनर विस्फोटकों को जांचने के लिए कारों को स्कैन कर सकता है।

Daksha Robot को 500 मी लाइन से अधिक वायरलेस कम्युनिकेशन द्वारा या 100 मीटर से अधिक दूरी पर फाइबर ऑप्टिक संचार द्वारा नियंत्रित किया जा सकता है। यह सिर्फ एक रिचार्ज में 3 घंटे तक लगातार काम कर सकता है। सीमा पर आईईडी और अन्य विस्फोटक तत्वों का पता लगाने के लिए दक्ष का इस्तेमाल किया जा सकता है, जिससे गश्त के दौरान कई भारतीय सैनिकों की जान बचाई जा सकती है।

Daksha Robot के फीचर्स 

अगर हम Daksha Robot के कुछ फीचर्स की बात करें तो आपको बता देते हैं कि यह कई सबसे बढ़िया फीचर्स से लैस है। ऐसा भी सामने आ रहा है कि 500 से ज्यादा यूनिट्स को जल्द ही भारतीय सेना में भी देखा जा सकता है, हालाँकि अभी आधिकारिक तौर पर इस बारे में कोई भी जानकारी सामने नहीं आई है। लेकिन मीडिया की कई रिपोर्ट्स में इस बारे में जानकारी आ चुकी है। 

  • यह रोबोट यानी Daksha Robot फूली ऑटोमैटिक है।
  • यह बायोलॉजिकल, केमिकल और रेडियोलॉजिकल हथियारों को भी नाश करने की क्षमता रखता है. 
  • इसमें एक रेडियो फ्रीक्वेंसी शील्ड होती है जो सिग्नल को जाम कर सकती है और इसे फटने से बचा सकती है।
  • यह हवाई अड्डे पर किसी भी संदिग्ध सामान का पता लगा सकता है और इसे हवाई अड्डे से बाहर या भीड़ से दूर ले जाकर नष्ट कर सकता है।
  • यह अपने रोबोटिक आर्म की मदद से किसी भी वस्तु को उठा सकता है। यदि, यह IED या बम है; तब यह अपने पानी के जेट से इसे नष्ट कर सकता है।
  • इसमें एक्स-रे डिवाइस हैं जो विस्फोटक सामग्री के लिए किसी भी कार / वाहन को स्कैन कर सकते हैं।
  • इसमें स्लोटेड पहिए भी हैं, जो आवश्यकताओं के समय सीढ़ियों पर चढ़ने में मदद भी कर सकते हैं।

अपनी इन खूबियों के साथ इसे एक दमदार रोबोट कहा जा सकता है जो जल्द ही हमें हमारी सेना में भी नजर आ सकता है, हालाँकि यह कब तक होने वाला इस बारे में कोई भी जानकारी अभी तक नहीं मिली है, लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि यह हमारी सेवा में जरुर शामिल किया जा सकता है।

वाया:

logo
Digit Hindi

Advertisements

ट्रेंडिंग टेक न्यूज़

Advertisements
Advertisements

पोपुलर मोबाइल फोंस

सारे पोस्ट देखें

Digit caters to the largest community of tech buyers, users and enthusiasts in India. The all new Digit in continues the legacy of Thinkdigit.com as one of the largest portals in India committed to technology users and buyers. Digit is also one of the most trusted names when it comes to technology reviews and buying advice and is home to the Digit Test Lab, India's most proficient center for testing and reviewing technology products.

हम 9.9 लीडरशिप के तौर पर जाने जाते हैं! भारत की एक अग्रणी मीडिया कंपनी के निर्माण और प्रगतिशील उद्योग के लिए नए लीडर्स को करते हैं तैयार

DMCA.com Protection Status