आप चाहें या न चाहें, आपका एंड्रॉयड फोन आपके डेटा को कर रहा है ट्रैक, देखें पूरी खबर

By Digit Hindi | पब्लिश किया गया 16 Oct 2021
HIGHLIGHTS
आप चाहें या न चाहें, आपका एंड्रॉयड फोन आपके डेटा को कर रहा है ट्रैक, देखें पूरी खबर

आपके पास एंड्रॉइड फोन होने का मतलब यह हो सकता है कि आपका डेटा ट्रैक किया जा रहा है, भले ही आप डिवाइस को अपने डेटा को ट्रैक करने की अनुमति दे रहे हैं या नहीं। शोधकर्ताओं ने पाया है कि कुछ एंड्रॉइड डिवाइसों में सिस्टम ऐप्स होते हैं जो एंड्रॉइड डिवाइस या ब्लोटवेयर के साथ पहले से इंस्टॉल आते हैं, यह ऐप्स आपके डेटा को ओएस के डेवलपर्स और विभिन्न थर्ड पार्टीज को आपका डेटा निरंतर भेजते रहते हैं। ये सिस्टम ऐप कैमरा या मैसेज ऐप जैसी कुछ कार्यक्षमता प्रदान कर सकते हैं, लेकिन अपने ओएस को डेटा भेजेंगे, भले ही उपयोगकर्ता ने उन्हें कभी नहीं खोला हो। यह भी पढ़ें: Amazon की सबसे बढ़िया डील्स, Rs 1000 से कम में बेस्ट ब्लुटूथ हैडफोन

Advertisements

डबलिन में ट्रिनिटी कॉलेज के शोधकर्ताओं के अनुसार, इन सिस्टम ऐप्स से डेटा ट्रैकिंग से ऑप्ट-आउट करने का कोई तरीका नहीं है, जब तक कि उपयोगकर्ता अपने डिवाइस को रूट करने का निर्णय नहीं लेते क्योंकि ये ऐप आमतौर पर रीड-ओनली मेमोरी (ROM) में पैक किए जाते हैं। इसे भी पढ़ें: 5G के आने से कुछ यूँ बदल जायेगी आपकी ज़िन्दगी, देखें फायदे और नुकसान

संबंधित लेख

Google भारतीय स्मार्टफोन यूजर्स के लिए बनाएगा खास Android? देखें कब तक हो सकती है लॉन्चिंग अपने Android Phone से इन 15 ऐप्स को अभी कर दें डिलीट, कहीं खाली न हो जाए बैंक अकाउंट Google for India 2021: देखें आखिर आपके एंड्रॉयड फोन को क्या नई सुविधा मिलने वाली है 5G को लेकर सामने आया सबसे बड़ा अनुमान, 2027 तक भारत में इतने होंगे 5G यूजर, देखें आंकड़ा Reliance ने फिर चला बड़ा दांव, अब WhatsApp के माध्यम से आटा, दाल चावल करें ऑर्डर, JioMart पहुंचाएगा आपके घर
Advertisements

शोधकर्ताओं ने सैमसंग, शाओमी, हुवावे और रियलमी द्वारा विकसित एंड्रॉइड ओएस के लोकप्रिय वेरिएंट का अध्ययन किया है। उन्होंने Android के LineageOS और /e/OS ओपन-सोर्स वेरिएंट द्वारा साझा किए गए डेटा पर भी रिपोर्ट की है। शोधकर्ताओं ने उल्लेख किया कि सैमसंग के पास इस बाजार का सबसे बड़ा हिस्सा है, इसके बाद Xiaomi, Huawei और Oppo हैं जो कि Realme की मूल कंपनी है। इसे भी पढ़ें: अगर आप Airtel यूजर हैं तो पा सकते हैं Rs 4 लाख का लाभ¸जानें क्या है स्कीम

शोध पत्र में कहा गया है, "सिस्टम ऐप्स को हटाया नहीं जा सकता है (वे एक संरक्षित रीड-ओनली डिस्क विभाजन पर स्थापित हैं) और उन्हें सामान्य ऐप्स के लिए उपलब्ध नहीं होने वाले अधिकार / अनुमतियां दी जा सकती हैं जैसे कि उपयोगकर्ता जो इंस्टॉल कर सकते हैं। एंड्रॉइड के लिए पहले से इंस्टॉल किए गए थर्ड-पार्टी सिस्टम ऐप, यानी ओएस डेवलपर द्वारा नहीं लिखे गए ऐप को शामिल करना आम बात है।” "एक उदाहरण Google ऐप्स का तथाकथित GApps पैकेज है (जिसमें Google Play सेवाएं, Google Play Store, Google maps, Youtube आदि शामिल हैं)। अन्य उदाहरणों में माइक्रोसॉफ्ट, लिंक्डइन, फेसबुक आदि से पहले से इंस्टॉल किए गए सिस्टम ऐप शामिल हैं।" इसे भी पढ़ें: Vodafone Idea यूजर्स को मिल रहा है डबल डेटा, देखें किन प्लान्स पर लागू है स्कीम

Advertisements

Gizmodo द्वारा सबसे पहले इसे लेकर रिपोर्ट की गई, शोधकर्ताओं ने नोट किया कि सिस्टम ऐप्स आपके फोन पर "टेलीमेट्री डेटा" नामक कुछ भेजेंगे, जिसमें उपयोगकर्ता डिवाइस के पहचानकर्ता जैसे विवरण शामिल हैं, और आपके द्वारा इंस्टॉल किए गए प्री-इंस्टॉल ऐप की कंपनी से ऐप्स की संख्या शामिल है। डेटा को थर्ड पार्टी एप्लिकेशन या एनालिटिक्स प्रदाताओं द्वारा भी साझा किया जाता है, जिन्हें उपयोगकर्ताओं ने प्लग इन किया होगा। इसे भी पढ़ें: Jio ने बिगाड़ा Airtel का खेल, 79 रुपये वाले प्लान को पटखनी देने बाजार में आया धाकड़ प्लान, कम पैसे में मिल रहा बहुत कुछ

वाया:

Digit Hindi

Email Digit Hindi

Follow Us

About Me: Ashwani And Aafreen is working for Digit Hindi, Both of us are better than one of us. Read the detailed BIO to know more about Digit Hindi Read More

Advertising
Web Title: android phones track your all data weither you give the permission or not
Tags:
android phones android os android phones track data rom android phone under 10000 latest android phones under 10000 android phone under 5000 best android phones android phones in india samsung android phones android phone price
Advertisements

Trending Articles

Advertisements

हॉट डील्स

सारे पोस्ट देखें
Advertisements