भारत में दूसरी तिमाही में 36 ट्रिलियन रुपये का 20.5 अरब ऑनलाइन लेनदेन हुआ

By IANS | पब्लिश किया गया 04 Oct 2022
HIGHLIGHTS
  • भारत में इस साल दूसरी तिमाही में 36.08 ट्रिलियन रुपये के 20.57 अरब ऑनलाइन लेनदेन हुए।

  • ऑनलाइन लेनदेन डेबिट और क्रेडिट कार्ड, मोबाइल वॉलेट और प्रीपेड कार्ड और यूपीआई जैसे प्रीपेड भुगतान साधनों के माध्यम से किए गए, जिसमें पी2एम (व्यक्ति से व्यापारी) और पी2पी (व्यक्ति से व्यक्ति) लेनदेन शामिल हैं।

भारत के ऑनलाइन लेनदेन को लेकर सामने आई बड़ी जानकारी, देखें फुल डिटेल्स

भारत में इस साल दूसरी तिमाही में 36.08 ट्रिलियन रुपये के 20.57 अरब ऑनलाइन लेनदेन हुए। मंगलवार को जारी एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। ऑनलाइन लेनदेन डेबिट और क्रेडिट कार्ड, मोबाइल वॉलेट और प्रीपेड कार्ड और यूपीआई जैसे प्रीपेड भुगतान साधनों के माध्यम से किए गए, जिसमें पी2एम (व्यक्ति से व्यापारी) और पी2पी (व्यक्ति से व्यक्ति) लेनदेन शामिल हैं।

Advertisements
Advertisements

वल्र्डलाइन की 'इंडिया डिजिटल पेमेंट्स रिपोर्ट' में कहा गया, "यूपीआई पी2पी की मात्रा में 49 प्रतिशत और मूल्य में 67 प्रतिशत की हिस्सेदारी थी, लेकिन व्यापारियों के लेन-देन के मामले में, यूपीआई पी2एम पसंदीदा भुगतान मोड के रूप में उभरा, जिसकी बाजार हिस्सेदारी 34 प्रतिशत और मूल्य के मामले में 17 प्रतिशत थी।"

Advertisements

क्रेडिट और डेबिट कार्ड के माध्यम से भुगतान की मात्रा 8 प्रतिशत और मूल्य में 14 प्रतिशत रही।

रिपोर्ट में कहा गया है, "यूपीआई एक प्रमुख भुगतान मोड बना हुआ है, क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल भी बढ़ रहा है। बड़े लेनदेन के लिए यह पसंदीदा तरीका बना हुआ है।"

Advertisements

2022 की दूसरी तिमाही में, यूपीआई ने 17.4 अरब से अधिक और मूल्य के संदर्भ में 30.4 ट्रिलियन रुपये का लेनदेन किया। लेन-देन की मात्रा में 2021 की दूसरी तिमाही तुलना में 2022 की दूसरी तिमाही में लगभग 118 प्रतिशत की वृद्धि और मूल्य में 98 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि देखी गई।

Advertisements

पारिस्थितिकी तंत्र में यूपीआई में अब 346 भागीदार बैंक हैं। यह अब संयुक्त अरब अमीरात, सिंगापुर, फ्रांस और भूटान जैसे देशों में स्वीकार किया जाता है। जून 2022 तक, बैंकों द्वारा तैनात पीओएस टर्मिनलों की कुल संख्या 6.59 मिलियन थी। रिपोर्ट के अनुसार, 2021 की दूसरी तिमाही की तुलना में 2022 की दूसरी तिमाही में इसमें 43 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

2022 की दूसरी तिमाही के अंत तक प्रचलन में क्रेडिट और डेबिट कार्ड की कुल संख्या 1 अरब थी। 2022 की दूसरी तिमाही में, क्रेडिट कार्ड की मात्रा और मूल्य क्रमश: 688.65 मिलियन और 3.28 ट्रिलियन रुपये था। 2022 की दूसरी तिमाही में, डेबिट कार्ड लेनदेन की मात्रा और मूल्य क्रमश: 973.12 मिलियन और 1.91 ट्रिलियन रुपये था।

Advertisements

WEB TITLE

online shopping in india

Web Title: online shopping in india

Trending Articles

Advertisements